अब इस 3D टेक्नोलॉजी के जरिए कर सकेंगे बात, पढ़े पूरी खबर

टैक्नोलॉजी को TeleHuman 2 का नाम दिया गया

नई दिल्ली: वीडियो कालिंग को और बेहतर बनाने व नैक्स्ट लैवल पर ले जाने के लिए नई तकनीक विकसित की गई है, इस टैक्नोलॉजी से शारीरिक हाव-भाव से बात को समझने में आसानी होगी. इसे 3D टैली कॉन्फ्रैंसिंग सिस्टम काह जा रहा हैं इसे ओंटारियो में स्थित क्वीन यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स ने तैयार किया गया है. इस टैक्नोलॉजी को TeleHuman 2 का नाम दिया गया हैं.

बताया जा रहा हैं की इस तकनीक में कमरे के बीचों-बीच रखे सिलैंडर के जैसे दिखने वाले सिस्टम पर साऊंड के साथ ऊपर से लेकर नीचे तक व्यक्ति की रियल टाइम वीडियो दिखाएगी जिसे एक से ज्यादा व्यक्ति आसानी से देख पाएंगे.

इसका उपयोग करने के लिए सबसे पहले वीडियो को सैंड करने वाले व्यक्ति की ओर से डैप्थ कैमरे लगाए जाएंगे जो व्यक्ति की तीनों डाइमैंशन्स मूवमैंट को डिटैक्ट करेंगे व सारा डाटा नैटवर्क के जरिए भेजेंगे. वहीं प्राप्तकर्ता की ओर से यह डाटा कमरे में रिंग की शेप में लगे इंटैलीजैंट प्रोजैक्टर्स द्वारा खास तैयार किए गए ह्यूमन साइज्ड सिलैंडर पोड पर शो होगा. यानी यह तकनीक आपको AR और VR हैडसैट्स तकनीक से भी आगे ले जाएगी.

क्वीन यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ कम्प्यूटिंग के प्रोफैसर ने कहा है कि वीडियो कालिंग के लिए लोग स्काइप जैसी एप्स का उपयोग करते हैं लेकिन ऐसी बात जिसे आप बोल कर नहीं बता सकते, उसके लिए यह तकनीक अब मददगार साबित होगी.

Back to top button