टेक्नोलॉजीबिज़नेस

अब WhatsApp से एक दूसरे को पैसे ट्रांसफर कर पाएंगे यूजर्स

WhatsApp UPI बेस्ड पेमेंट की टेस्टिंग पहले ही की जा चुकी

नई दिल्ली: नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने WhatsApp को UPI बेस्ड पेमेंट के लिए अप्रूवल दे दिया है. अब यूजर्स WhatsApp से एक दूसरे को पैसे ट्रांसफर कर पाएंगे. WhatsApp UPI बेस्ड पेमेंट की टेस्टिंग पहले ही की जा चुकी है.

फ़ेसबुक इंडिया हेड अजीत मोहन ने कहा है, ‘भारत में WhatsApp पर पेमेंट लाइव हो चुका है और लोग WhatsApp के जरिए पैसे भेज सकेंगे. हम इस बात को लेकर उत्साहित हैं कि कंपनी भारत के डिजिटल पेमेंट शिफ्ट में योगदान दे सकेगी’.

भारत में WhatsApp Payment दस क्षेत्रीय भाषाओं में उपलब्ध होगा. अगर आपके वॉट्सऐप ऐप में पहले से ही पेमेंट का ऑप्शन है तो अब आप इसे यूज कर सकते हैं. नहीं है तो वॉट्सऐप अपडेट करके पेमेंट ऑप्शन चेक कर सकते हैं.

WhatsApp Payment यूज करने के लिए कस्टमर्स के पास डेबिट कार्ड होना जरूरी है जो UPI सपोर्ट करता है. वॉट्सऐप Payment ऑप्शन में जा कर आप बैंक सेलेक्ट करके डीटेल्स दर्ज करके इसे ऐक्टिवेट कर सकते हैं.

WhatsApp ने अपने स्टेटमेंट में कहा है, ‘आज से देश बर के WhatsApp यूजर्स इस ऐप से पेमेंट कर पाएंगे. WhatsApp का सिक्योर पेमेंट एक्सपीरिएस पैसे भेजने को मैसेज भेजने जितना ही आसान बना देगा’.

WhatsApp ने नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन। ऑफ इंडिया के साथ मिल कर यूनिफाइड पेमेंट सिस्टम यानी UPI बेस्ड पेमेंट इंटरफेस तैयार किया है और इसमें डेटा लोकलाइजेशन का भी ध्यान रखा गया है.

WhatsApp ने पेमेंट सर्विस के लिए पाँच बड़े बैंकों से साथ करार किया है. इनमें ICICI Bank, HDFC Bank, Axis Bank, SBI और JIo Payments Bank शामिल हैं.

ग़ौरतलब है कि WhatsApp से सिर्फ़ WhatsApp में पैसे नहीं, बल्कि WhatsApp से किसी भी UPI सपोर्टेड ऐप में भेजे जा सकते. यानी अगर अगला शक्स वॉट्सऐप पेमेंट यूज नहीं कर रहा है तो भी आप WhatsApp से पेमेंट कर पाएंगे.

WhatsApp के मुताबिक़ यहाँ पेमेंट करना सिक्योर होगा और हर ट्रांजैक्शन के लिए UPI पिन की जरूरत होगी. स्टेटमेंट में कंपनी ने कहा है कि WhatsApp payments एंड्रॉयड और आईओएस दोनों ही प्लैटफॉर्म पर उपलब्ध होगा. इसके लिए यूजर्स ऐप अपडेट कर सकते हैं.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button