बॉलीवुडमनोरंजन

अब यामी गौतम भी कर रही है रितिक को सपोर्ट, कहा-जरूरी नहीं कि आदमी ही दोषी हो!

मुंबई: बॉलीवुड एक्ट्रैस कंगना और रितिक की कंट्रोवर्सी में अब बॉलीवुड सितारे भी खुलकर सामने आ रहे हैं। रविवार को फरहान अख्तर ने फेसबुक पर ओपन लेटर लिखकर रितिक का सपोर्ट किया।

हाल ही में एक्ट्रैस यामी गौतम ने भी फेसबुक पर ही इस मामले में अपनी राय जाहिर की है। उनका कहना है कि रितिक और कंगना के बीच के विवाद को जेंडर फाइट बना दिया गया है।

बिना आरोप साबित हुए किसी को भी दोषी ठहरा देना गलत होगा। यामी ने लिखा- मैं आमतौर पर सोशल मीडिया में ज्यादा एक्टिव नहीं रहती हूं, लेकिन आज मैं ऐसा कर रही हूं।

क्योंकि एक महिला के तौर पर जो मैं देख रही हूं। उससे मुझे डर लग रहा है। ये इंडस्ट्री के दो बड़े सितारों से जुड़ा है। मुझे दोनों में से एक के साथ काम करने का मौका भी मिला है।

हालांकि मैं ये पोस्ट एक को स्टार या दोस्त के तौर पर नहीं लिख रही हूं। मैं एक महिला होने के नाते देश का नागरिक होने के नाते ये लिख रही हूं।

मैं कानूनी जानकार नहीं हूं। मैं मीडिया के जरिये ही जानती हूं कि इस केस में क्या हुआ है। लेकिन अब यह एक जेंडर वार बन चुका है। इसमें आदमी को ही गलत ठहरा दिया गया है।

लोगों ने सोच लिया है कि वह आदमी है। इसलिए वही दोषी है। क्योंकि ऐसा ही हमेशा से होता आया है। आदमी ने औरत को सदियों से प्रताड़ित किया है। तो इस मामले में भी ऐसा ही मान लिया गया है कि गलती आदमी की ही है। ये खतरनाक है।

खबरों की मानें तो इसके अलावा यामी ने कहा कि हमें किसी को भी दोषी ठहराने से पहले कानून को ये साबित करने का मौका देना चाहिए कि असल में दोषी कौन है।

उन्होंन लिखा। मेरा कहना सिर्फ इतना है कि इसे जेंडर इश्यू न बनाया जाए। इसे दो लोगों के बीच की लड़ाई ही समझें।

पहले तथ्यों को सामने आने दें। तब तक के लिए अपनी जजमेंट से किसी को भी दोषी करार न दें। ये लड़ाई एक आदमी और औऱत के बीच है। इसका ये मतलब नहीं कि इसे जेंडर फाइट बना दिया जाए।

बता दें कि यामी गौतम रितिक रोशन के साथ इसी साल रिलीज हुई फिल्म काबिल में नजर आ चुकी हैं। इससे पहले शनिवार को फरहान अख्तर ने भी अपने लेटर में रितिक का सपोर्ट ही किया था।

उनका कहना था कि मीडिया में जिस तरह इस विवाद को दिखाया गया है, वो चिंताजनक है. हमारे कुछ बड़े पत्रकारों ने उस महिला की सच्चाई जाने बिना एकतरफा कहानी को सबके सामने पेश किया।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.