अब गूगल से भी बुक करा सकते हैं वैक्सीन स्लॉट, सर्च करें ‘covid vaccine near me’

कोरोना काल में वायरस के असर को कम करने और बीमारी से बचने के लिए वैक्सीनेशन महत्वपूर्ण हैं। लेकिन कई बार वैक्सीन स्लॉट बुक करने में लोगों को कई तरह की दिक्कतों का भी सामना करना पड़ रहा था। लोगों की इन्हीं समस्याओं का समाधान करने और वैक्सीनेशन की रफ्तार को बढ़ाने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक नया फीचर लॉन्च किया है, जिससे अब स्लॉट बुक करने में और आसानी होगी। वैक्सीन लगवाने के लिए स्लॉट ढूंढना अब और आसान होगा, क्योंकि कोविन पोर्टल के साथ ही गूगल पर सर्च करके भी स्लॉट बुक करा सकते हैं।

अब गूगल से भी बुक करा सकते हैं स्लॉट

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने नए फीचर के बारे में कहा कि कोविड रोधी टीका लगवाने के लिए अब स्लॉट गूगल पर सर्च करके भी बुक कराया जा सकता है। केंद्र सरकार ने इस सुविधा की शुरुआत टीकाकरण अभियान को और तेज करने के उद्देश्य से की है।
उन्होंने बताया कि गूगल पर ‘covid vaccine near me’ सर्च करें। इसके बाद स्लॉट की अवेलिबिलिटी देखें और स्लॉट बुक करने के लिए ‘Book Appointment’ का इस्तेमाल करें।

13,000 से ज्यादा लोकेशन के सेंटर की जानकारी

इस बारे में गूगल ने बताया कि इस साल मार्च महीने में गूगल ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ पार्टनरशिप में कोविड-19 वैक्सीनेशन सेंटर्स की जानकारी देना शुरू किया था। देश में 13,000 से ज्यादा लोकेशन पर यूजर्स वैक्सीन अवेलिबिलिटी और अपॉइनमेंट्स की जानकारी ले सकते हैं। गूगल ने बताया कि यह जानकारी CoWIN एप्लिकेशन से रीयल टाइम डेटा द्वारा संचालित होगी।

गूगल पर वैक्सीनेशन के लिए मिलने वाली सुविधाएं

इसमें प्रत्येक केंद्र पर नियुक्ति स्लॉट की उपलब्धता, टीके और खुराक की पेशकश (खुराक 1 या खुराक 2), पेड या फ्री, बुकिंग के लिए CoWIN वेबसाइट से लिंक करें आदि सुविधा दी जाएगी।
उन्होंने बताया कि जब उपयोगकर्ता अपने आस-पास, या किसी विशिष्ट क्षेत्र में – Google सर्च, मैप और Google असिस्टेंट में वैक्सीन सेंटरो की खोज करेंगे, तो सभी जानकारी अपने आप दिखाई देगी।

आठ भाषाओं में करेगा काम

अंग्रेजी के अलावा,उपयोगकर्ता हिंदी, बंगाली, तेलुगु, तमिल, मलयालम, कन्नड़, गुजराती और मराठी सहित आठ भारतीय भाषाओं में भी खोज कर सकते हैं। गूगल ने कहा कि हम भारत के सभी टीकाकरण केंद्रों जानकारी देने के लिए CoWIN टीम के साथ मिलकर काम करना जारी रखेंगे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button