यौन शोषण के आरोप में फंसे एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष फिरोज खान

छत्तीसगढ़ के भिलाई की एनएसयूआई कार्यकर्ता की शिकायत पर पार्टी ने बैठाई जांच

नई दिल्ली/ रायपुर। कांग्रेस की छात्र विंग नेशनल स्टूडेंट यूनियन आॅफ इंडिया (एनएसयूआई) के राष्ट्रीय अध्यक्ष फिरोज खान पर लगे यौन शोषण के आरोपों को लेकर पार्टी काफी गंभीरता से काम कर रही है। फिरोज खान के ऊपर छत्तीसगढ़ से एनएसयूआई की एक महिला कार्यकर्ता ने ये आरोप लगाए हैं। वहीं फिरोज खान ने इन आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा है कि ये सब एक राजनीतिक रूप से प्रेरित होकर किया जा रहा है और सारे आरोप आधारहीन हैं। वहीं एनएसयूआई ने छात्र विंग के राष्ट्रीय अध्यक्ष पर लगे इन गंभीर आरोपों की जांच करने के लिए कमेटी का गठन करने का फैसला किया है।

बेंगलुरु में एनएसयूआई का राष्ट्रीय अधिवेशन में यौन शोषण करने का आरोप : रिपोर्ट्स के मुताबिक छत्तीसगढ़ के भिलाई की एनएसयूआई कार्यकर्ता द्वारा कथित तौर पर लिखे गए पत्र में फिरोज खान के ऊपर यौन शोषण करने का आरोप लगाया है। महिला ने अपने पत्र में फिरोज खान और दो अन्य व्यक्तियों के बीच हुए व्हाट्सएप संवाद की भी जानकारी दी है। महिला का कहना है कि पिछले महीनों में बेंगलुरु में एनएसयूआई का राष्ट्रीय अधिवेशन हुआ था, जहां फिरजो खान ने उसका यौन शोषण किया था।

जांच के लिए कमेटी का गठन : वहीं कांग्रेस के नेताओं का कहना है कि हालांकि महिला कार्यकर्ता ने न तो किसी औपचारिक तरीके से और न अनौपचारिक तरीके से उनसे संपर्क किया है, लेकिन फिर भी पार्टी फिरोज खान के ऊपर लगे आरोपों की जांच करेगी। एनएसयूआई की राष्ट्रीय प्रभारी रुचि गुप्ता का कहना है कि यह बहुत ही गंभीर मामला है। रुचि गुप्ता ने कहा, यह काफी गंभीर आरोप हैं और हम इसकी जांच करने के लिए कदम उठा रहे हैं। हम दोनों पक्षों को सुनने के लिए एक कमेटी का गठन करेंगे और गंभीरता से इस पर सुनवाई करेंगे।

यह बहुत ही गंभीर मामला है। यह काफी गंभीर आरोप हैं और हम इसकी जांच करने के लिए कदम उठा रहे हैं। हम दोनों पक्षों को सुनने के लिए एक कमेटी का गठन करेंगे और गंभीरता से इस पर सुनवाई करेंगे।

-रुचि गुप्ता,राष्ट्रीय प्रभारी एनएसयूआई।

ये सारे आरोप पूरी तरह से आधारहीन हैं। शिकायतकर्ता उनकी बहन की तरह है और उससे अब तक जिस भी तरह की बातचीत हुई है वह मेल आईडी पर ही हुई है। वे उन दो अन्य व्यक्तियों को नहीं जानते हैं, जिनका नाम महिला ने अपने खत में लिया है।
-फिरोज खान, राष्ट्रीय अध्यक्ष एनएसयूआई।

Back to top button