एनएसयूआई राष्ट्रीय अध्यक्ष यौन शोषण मामला : ऋचा जोगी ने उठाया ये सवाल

आरोप लगाया कि छत्तीसगढ़ की बेटी को प्रताड़ित कर उस पर दबाव बनाया जा रहा है

रायपुर: एनएसयूआई यौन शोषण मामले को लेकर जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) की नेत्री श्रीमती ऋचा जोगी ने पुलिस से मामले को स्वतः संज्ञान में लेकर जांच करने की मांग की।

श्रीमती ऋचा जोगी ने कहा कि एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष द्वारा पद का लालच देकर छत्तीसगढ़ की बेटी का यौन शोषण करना एक अत्यंत गंभीर और संवेदनशील मामला है।

पुलिस केवल बैठकर शिकायत होने का इंतज़ार नहीं कर सकती। जबकि पीड़ित युवती ने स्वयं कहा है कि उस पर दबाव डाला जा रहा है और एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कई और लड़कियों को पद का लालच देकर अपना शिकार बनाया है।

इस मामले में कांग्रेस नेताओं की चुप्पी पर भी ऋचा जोगी ने सवाल उठाये और कहा कि ये बड़े आश्चर्य की बात है कि पार्टी का एक पदाधिकारी बाहर से आता है और हमारी छत्तीसगढ़ की बेटियों का शोषण करता है और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता चुप्पी साधे बैठे हैं।

पीड़ित युवती से मिलकर, उसकी शिकायत सुनने एवं उसे न्याय देने की बजाय, उल्टा पीड़िता पर ही मामले को वापस लेने का दबाव बनाया जा रहा है। ये अंदुरुनी मामला नहीं है बल्कि दबाव डालकर मामले को अंदुरनी रखने का प्रयास किया जा रहा है।

ऋचा जोगी ने कहा कि एनएसयूआई यौन शोषण मामले ने राजनीति को कलंकित हुई है। दोषी के विरुद्ध कार्यवाही नहीं हुई तो समाज में गलत सन्देश जाएगा। युवतियां और महिलाएं राजनीति में आने से डरेंगी।

इस बीच जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के छात्र संगठन छत्तीसगढ़ स्टूडेंट्स यूनियन (जे) ने आज पूरे प्रदेश में एनएसयूआई राष्ट्रीय अध्यक्ष का पुतला दहन किया और दोषी के विरुद्ध कार्यवाही की मांग की।

Back to top button