एनएसयूआई ने आदिवासी विकास विभाग के संयुक्त संचालक को ज्ञापन सौंपा

नवीन पिछड़ा वर्ग बालक क्रीड़ा छात्रावास के छात्रों के पीड़ा को अवगत कराते हुए ज्ञापन सौंपा।

ब्युरो चीफ : विपुल मिश्रा

संवाददाता : प्रणव कुमार

बिलासपुर : आज दिनांक 28/10/21 गुरुवार को एनएसयूआई कार्य. जिलाध्यक्ष रंजीत सिंह ने आदिवासी विकास विभाग के संयुक्त संचालक सी.एल.जायसवाल को सरकंडा स्थित नवीन पिछड़ा वर्ग बालक क्रीड़ा छात्रावास के छात्रों के पीड़ा को अवगत कराते हुए ज्ञापन सौंपा।

नवीन पिछड़ा वर्ग बालक छात्रावास

ज्ञापन के माध्यम से अवगत कराया कि नवीन पिछड़ा वर्ग बालक छात्रावास के अधीक्षक अपनी कार्य के प्रति लापरवाह हैं जिसका खामयाजा छात्र भुगत रहे हैं,कार्य.जिलाध्यक्ष रंजीत सिंह ने कहा कि मुझे नवीन पिछड़ा वर्ग बालक क्रीड़ा छात्रावास के छात्रों ने अपनी पीड़ा जाहिर करते हुए बताया कि नवीन पिछड़ा वर्ग बालक क्रीड़ा छात्रावास में अधीक्षक के रूप में पदस्थ मनीष सिंह द्वारा उन्हें शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का काम किया जा रहा है..

इतना ही नहीं छात्रावास में रहने वाले बच्चे जब बीमार पड़ते हैं तो अधीक्षक द्वारा उनका इलाज तक नहीं कराया जाता है,उन्होंने कहा कि जहां एक ओर छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा भविष्य के खिलाड़ियों को विश्व स्तर के खिलाड़ियों से स्पर्धा में तैयार करने का सपना देख रही है लेकिन शासकीय कर्मचारी ही उनकी उम्मीदों पर पानी फेरने में कोई कसर नही छोड़ रहे है।

इसीलिए अधीक्षक के ऊपर ठोस कार्यवाही कर उन्हें निलंबित करने हेतु कहा और अगर भविष्य में छात्रों को किसी भी प्रकार की कोई भी समस्या होती होती है तो इसकी पूरी जवाबदेही आपकी होगी और अगर उनके स्वास्थ्य एवं खान पान के साथ शिक्षा में थोड़ी भी अव्यवस्था होती है तो उसके लिए एनएसयूआई उग्र आंदोलन करेगी जिसकी पूरी जवाबदारी आपकी होगी,

ज्ञापन सौंपने में एनएसयूआई कार्य. जिलाध्यक्ष रंजीत सिंह के साथ एनएसयूआई जिला उपाध्यक्ष लोकेश नायक,जिला महासचिव नवीन कुमार,जिला सचिव देवाशीष सिंह,जिला सचिव रितिक नागदेव,सुबोध नायक,राकेश जैन आदि एनएसयूआई कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button