गिरिडीह एसडीएम के प्रति आपत्तिजनक बयान, प्रदर्शन की अनुमति ना देने को नाराजगी

एसडीएम ने प्रदर्शन रोकने की कोशिश की तो उन्हें भी ट्रैक्टर में बांधकर घसीट दिया जाएगा: नुनूलाल मरांडी

नई दिल्ली: बालू घाटों की नीलामी को लेकर 8 दिसंबर को प्रदर्शन आयोजित किए जाने की अनुमति मांगे जाने पर गिरिडीह एसडीएम द्वारा मना करने के बाद भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी के भाई नुनूलाल मरांडी ने गिरिडीह एसडीएम के प्रति आपत्तिजनक बयान दिया है.

मरांडी ने कहा कि यहां की एसडीएम खुद को हिटलर समझ रही हैं. वह ज्यादा हिटलर बनने की कोशिश न करें. अन्यथा आने वाले समय में जब भाजपा की सरकार बनेगी तो हमलोग उन्हें उखाड़ कर फेंक देंगे. उन्होंने यह भी कहा कि आठ दिसंबर को अगर एसडीएम ने प्रदर्शन रोकने की कोशिश की तो उन्हें भी ट्रैक्टर में बांधकर घसीट दिया जाएगा.

मरांडी ने कहा कि कृषि नीति के संदर्भ में झामुमो और कांग्रेस के लोग किसानों को बरगलाने का काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार किसानों के हित में काम कर रही है. मरांडी ने आगे कहा कि कि झारखंड में विकास का कोई काम नहीं हो रहा है इसलिए झामुमो व कांग्रेस जनता को बरगला रही है.

उन्होंने बताया कि बालू घाटों की नीलामी की मांग को लेकर 8 दिसंबर को जिला मुख्यालय में प्रदर्शन का कार्यक्रम है. इसमें विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी समेत सांसद, विधायक, पूर्व सांसद, पूर्व विधायक भी शामिल होंगे. यह आंदोलन जनता के हित में है. इसके माध्यम से सरकार को नींद से जगाना है.

इस मामले पर भाजपा जिलाध्यक्ष महादेव दूबे ने कहा कि नुनूलाल मरांडी भाजपा के अनुशासित कार्यकर्ता हैं. अगर उनका ऐसा बयान है तो यह उनका व्यक्तिगत बयान होगा. पार्टी का इस तरह से कोई बयान नहीं हो सकता है.

दुबे ने कहा कि भाजपा किसी अधिकारी व पदाधिकारी व आम जनता के प्रति इस तरह की टिप्पणी नहीं कर सकती है. भाजपा कभी भी किसी के प्रति अमर्यादित भाषा का प्रयोग करने की इजाजत नहीं देती है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button