दुनिया में सबसे ऊंचा : नॉर्थ कोरिया ने तैयार किया 105 मंजिल का होटल

यह होटल करीब 30 साल में पूरा हुआ है। 1987 में इस होटल का निर्माण कार्य शुरू हुआ था। उस समय वर्तमान तानाशाह किम जोंग उन के दादा किम इल सुंग का नॉर्थ कोरिया में शासन था। दो साल में इस परियोजना को पूरा हो जाना था लेकिन उसमें विलंब हो गया। पहले देश में आर्थिक मंदी और उसके बाद संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों के चलते मुश्किल हालात में यह प्रोजेक्ट लंबित होता चला गया। करीब दस साल पहले इस प्रोजेक्ट को पूरा करने में मिस्र की ओरेस्कॉन कंपनी ने रुचि दिखाई लेकिन काम ने गति पकड़ी 2012 में किम जोंग उन के सत्ता संभालने के बाद। किम जोंग के आदेश से इस बिल्डिंग समेत नॉर्थ कोरिया की दर्जनों इमारतों को बनाया गया। इनमें प्योंगयांग में 70 मंजिल की आवासीय इमारत भी शामिल है।

लगे हैं कड़े प्रतिबंध
नॉर्थ कोरिया में ऐसा महंगे हथियार विकास कार्यक्रमों और संयुक्त राष्ट्र के कड़े आर्थिक प्रतिबंधों के बीच हुआ। पिरामिड की शक्ल में तैयार इस इमारत में आर्थिक प्रतिबंधों के दौर में होटल चलेगा या इसमें कार्यालय खुलेंगे। यह एक बड़ा सवाल है। नॉर्थ कोरिया में फिलहाल इसका जवाब किसी के पास नहीं है।

किम जोंग ने मनाया सफलता का जश्न

बैलेस्टिक मिसाइल के दूसरे सफल परीक्षण के बाद नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन और उनकी पत्नी ने रविवार को एक भव्य समारोह आयोजित किया। इस समारोह में सत्तारूढ़ वर्कर्स पार्टी, वैज्ञानिकों, सेना के उच्च अधिकारियों और प्रशासन के अधिकारी शामिल हुए। इस मौके पर किम जोंग उन और उनकी पत्नी ने खासतौर पर रक्षा क्षेत्र के वैज्ञानिकों को इस बड़ी सफलता के लिए बधाई दी। कहा कि इस सफलता से नॉर्थ कोरिया दुनिया में ताकत की एक धुरी बन गया है। तानाशाह ने देश की जनता से भी वैज्ञानिकों की सफलता का जश्न मनाने का आह्नन किया है।

Back to top button