ओडिशा के कृषि मंत्री प्रदीप महारथी का इस्तीफा

नई दिल्ली।

बीजू जनता दल (बीजद) के वरिष्ठ नेता और ओडिशा के कृषि मंत्री प्रदीप महारथी ने रविवार (छह जनवरी, 2019) को मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के दफ्तर में अपना त्याग-पत्र भेजा है, जिसमें उन्होंने कहा है कि वह नैतिक आधार पर पद छोड़ रहे हैं। इस्तीफे के बाद वह बोले, मैं बीजद का ईमानदार कार्यकर्ता हूं। मैं पार्टी और सीएम की इज्जत करता हूं। पार्टी पर किसी प्रकार का दबाव न बनाया जाए, लिहाजा मैंने अपना पद छोड़ा है।

महारथी का इस्तीफा ऐसे समय पर आया है, जब कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी उन्हें पटनायक सरकार से हटाने की लगातार मांग कर रही थीं। दरअसल, साल 2011 में पीपिली में एक लड़की की गैंगरेप के हत्या कर दी गई थी। उस मामले में स्थानीय कोर्ट के फैसले पर महारथी ने कथित तौर पर आपत्तिजनक बयान दिया था।

भुवनेश्वर स्थित एडिश्नल डिस्ट्रिक्ट कोर्ट के जज ने उस मामले में सबूतों की कमी के चलते 24 दिसंबर को मुख्यारोपी प्रशांत प्रधान और उसके भाई सुकांत को बरी कर दिया था।

कोर्ट के फैसले पर महारथी बोले थे- सच सामने आ गया है और अब पुलिस को यह पता करना होगा कि आखिर पीड़िता की मौत कैसे हुई। मेरी संवेदना पीड़िता और उसके परिवार के साथ है, पर मैं कोर्ट के फैसले का सम्मान करता हूं।

हालांकि, बाद में उन्होंने बयान के लिए माफी भी मांग ली थी। बीजेपी महिला मोर्चा और ओडिशा प्रदेश महिला कांग्रेस ने भी उनके इस बयान पर राज्यव्यापी प्रदर्शन की चेतावनी दी थी। वहीं, शनिवार (चार जनवरी) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी वहां के बारीपद में एक जनसभा के दौरान पटनायक सरकार को घेरा था।

1
Back to top button