ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने घोषित किया कोविड सहायता पैकेज

अधिकारियों को दिए ये निर्देश

ओडिशा: ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक (Naveen Patnaik) ने शुक्रवार को राज्य में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (MGNREGA) के तहत काम कर रहे 32 लाख मजदूरों को 352 करोड़ रुपये बांटे. इन मजदूरों ने अप्रैल से जून के बीच मनरेगा के जरिए काम किया है. मनरेगा के मजदूरों को उपलब्ध कराई गई ये कोविड मदद ओडिशा सरकार के गरीबों के लिए 1,690 करोड़ रुपये के विशेष कोविड​​​-19 पैकेज का हिस्सा है. मनरेगा के तहत हर मजदूर को उसकी मजदूरी के साथ 50 रुपये प्रतिदिन की अतिरिक्त राशि का ऐलान हुआ था, जिसके तहत कुल 4500 रुपए का अतिरिक्त भुगतान किया गया.

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समारोह को संबोधित करते हुए पटनायक ने कहा, गरीबों के लिए मेरे दिल में हमेशा एक खास जगह है और उनके कल्याण के लिए काम करने से मुझे संतुष्टि मिलती है. मुझे उम्मीद है कि यह वित्तीय सहायता श्रमिकों की मदद करेगी. मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को जिला स्तर पर और अधिक मानव दिवस सृजन करने और गरीबों को रोजगार उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं.

राज्य सरकार ने पिछले एक साल के दौरान सबसे ज्यादा प्रभावित किसानों, मजदूरों, डेयरी किसानों, फल सब्जी विक्रेताओं और राज्य के अन्य गरीब लोगों के लिए 1690 करोड़ रुपये की विशेष COVID मदद का ऐलान किया था. मनरेगा के तहत राज्य सरकार ने पिछले साल 20 करोड़ मानव दिवस सृजित किए थे और राज्य सरकार ने इसे साल के आखिर तक बढ़ाकर 25 करोड़ करने का लक्ष्य रखा था, जबकि इस साल अब तक 7 करोड़ मानव दिवस का सृजन किया है.

ओडिशा में कोविड-19 के 2,806 नए मामले सामने आए हैं और रिकॉर्ड 61 लोगों की मौत हो गई. राज्य में कोविड-19 से मृतकों की संख्या बढ़कर 4,476 हो गई. मौत का नया आंकड़ा किसी एक दिन का नहीं है, बल्कि इसमें उन मौतों को भी शामिल किया गया है, जो पहले की सूची में शामिल नहीं थीं, लेकिन मौत की वजह की पहचान कोविड-19 के रूप में हुई थी. खुर्दा में सबसे ज्यादा 11 मरीजों की मौत हुई. इसके बाद बारगढ़, गंजाम, मयूरभंज और पुरी में छह-छह लोगों की मौत हुई. राज्य में अब तक कोविड-19 के 9,35,136 मामले सामने आए हैं. राज्य में फिलहाल 27,429 मरीजों का इलाज चल रहा है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button