ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने किसानों की मदद के लिए बांटी राशि

किसान, मजदूर और दिहाड़ी मजदूर हमारी अर्थव्यवस्था की रीढ़ :मुख्यमंत्री

नई दिल्ली:देव स्नान पूर्णिमा के मौके पर मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने किसानों के लिए सहायता राशि की घोषणा की है. कोरोना के टाइम में किसानों की मदद के लिए पैकेज के तहत राशि बांटी. कालिया ‘आजीविका और आय वृद्धि के लिए कृषक सहायता’ योजना के तहत भूमिहीन किसानों के लिए 386 करोड़ रुपए की मदद की जा रही है.

राज्य सरकार के अनुसार 18 लाख पंजीकृत किसान इस योजना से लाभान्वित होंगे और पैसा सीधे उनके बैंक खातों में जमा किया जाएगा. मदद के रूप में हर भूमिहीन किसान को कालिया योजना के तहत किश्त के अलावा अतिरिक्त 1,000 रुपये मिलेंगे.

इस मौके पर मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा कि किसान, मजदूर और दिहाड़ी मजदूर हमारी अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं. हम कृषि क्षेत्र की सभी सफलताओं के पीछे भूमिहीन किसानों के बलिदान का सम्मान करते हैं. मैंने लगातार एम स्वामीनाथन की सिफारिशों कोलागू करने की मांग की है और उस वक्त तक करते रहेंगे जब तक इसे पूरा नहीं किया जाता.

तीन किस्तों में मिलेंगे 12,500 रुपए

सीएम ने कहा कि कोविड का अर्थव्यवस्था पर गहरा प्रभाव पड़ा है. पहली लहर में कृषि क्षेत्र था, जिसने हमारी अर्थव्यवस्था को बचाया. लॉकडाउन की दूसरी लहर ने लोगों की आजीविका पर गहरा असर डाला है. यही कारण है कि राज्य सरकार ने COVID पैकेजों की घोषणा की है.

किसानों, मजदूरों, रेहड़ी-पटरी वालों, डेयरी किसानों और अन्य जैसे विभिन्न श्रेणियों के लोगों के लिए कोविड पैकेजों की घोषणा की गई है. कालिया योजना के तहत राज्य में पंजीकृत किसानों को तीन किस्तों में 12,500 रुपये मिलेंगे.

11 जिलों में रुका वैक्सीनेशन

वहीं दूसरी ओर ओडिशा सरकार ने कोविशील्ड खुराकों की “भारी किल्लत” के चलते बुधवार को 11 जिलों में कोविड-19 टीकाकरण रोक दिया. अधिकारियों के मुताबिक अंगुल, बालांगीर, बालासोर, भद्रक, ढेंकनाल, गंजाम, झारसुगुड़ा, केन्द्रपाड़ा, कोरापुट और सोनपुर में दिन में वैक्सीनेशन अस्थाई रूप से रोका गया.

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने अधिकारियों से कोविड ​​-19 की संभावित तीसरी लहर से पहले वैक्सीनेशन प्रक्रिया में तेजी लाने के लिए कहा था, जिसके बाद अधिकारी 21 जून से हर दिन 3 लाख से ज्यादा पात्र लाभार्थियों को वैक्सीन की डोज दे रहे थे. एक अधिकारी ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग ने मंगलवार को केवल 1.18 लाख डोज लगाईं.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button