के. आर. टेक्निकल कॉलेज अम्बिकापुर में मनाया गया दीपावली उत्सव

अम्बिकापुर: के. आर. टेक्निकल कॉलेज अम्बिकापुर में दीपावली के पूर्व महाविद्यालयीन छात्र-छात्राआंे एवं महाविद्यालय परिवार द्वारा दीपावली उत्सव धुम-धाम से मनाया गया। इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. रितेष वर्मा ने कहा कि हमें न सिर्फ दीपावली बल्कि सभी त्यौहार शांति एवं सौहार्द पूर्ण तरिके से मनाना चाहिये। उन्होने कहा कि हमें नाकारात्मकता से सकारात्मकता की ओर जाना चाहिये और इसकी शुरूवात हमें स्वयं से करना चाहिये।

पौराणिक कथाओं को अपने जीवन के साथ जोड़ कर वर्तमान में उनसे क्या सीख लिया जा सकता है इस पर विचार जरूर करें। इससे पूर्व प्राचार्य, उप प्राचार्य एवं सभी विभागाध्यक्ष द्वारा मां लक्ष्मी, मां सरस्वती एवं भगवान श्री गणेष की प्रतिमा पर दीप प्रज्जवलित कर आरती एवं पूजा किया एवं सर्व मंगल कामना की। इस दौरान उप प्राचार्य बिनय कुमार अम्बष्ठ ने कहा कि त्यौहारो में खुषियों के साथ-साथ हमें अपने आस-पास के वातावरण का भी ध्यान रखना चाहिये। विषेषकर पटाखा फोड़ने के दौरान बुजुर्ग, असहाय एवं बेजुबान जानवरों के साथ मस्ती मजाक नही करना चाहिये। बल्कि कोई जरूरत मंद दिखे तो उनकी मदद करनी चाहिये।

छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुये कला एवं समाजकार्य विभाग के विभागाध्यक्ष श्री विनितेष गुप्त ने कहा कि हमें जाति एवं धर्म से उपर उठकर त्यौहार मनाना चाहिये एवं धर्मग्रंथ रामायण में उल्लेखित राम, सीता, लक्ष्मण आदि को एक पात्र के रूप में भी पढ़कर उनसे पुत्रधर्म, पतिधर्म, पत्निधर्म, भ्राताधर्म जैसे सामाजिक दायित्वों को समझा उवं पालन किया जा सकता है। उन्होने रामराज एवं मर्यादा पुरूषोतम शब्दो की गरिमा को समझाते हुये जीवन में उतारने हेतु छात्र-छात्राओं को प्रेरित किया। इसी क्रम में विभागाध्यक्ष कम्प्यूटर विज्ञान श्री संदीप डे ने कहा कि छात्र-छात्राओं के लिये सबसे जरूरी बात ये है कि वे अभी अपना प्रयास अज्ञानता से ज्ञान की ओर जाने हेतु करें।

वहीं गणित विभाग की विभागाध्यक्ष सुश्री जागृति यादव ने कहा कि इस बार हम पर्यावरण को नुकसान पहुचाये बिना दीपावली मनाने का प्रयास करें एवं आसपास रौषनी के साथ खुषियां बिखेरने का प्रयास करें। वहीं विज्ञान विभाग की विभागाध्यक्ष सुश्री आषामुनि दास ने कहा कि दीपावली में लक्ष्मी माता की पूजा क्यो की जाती है इस बारें में विस्तार से बताया एवं सभी को शुभकामनायें दी। इस दौरान रासेयो की वरीष्ठ स्वयंसेविका संतोषी प्रधान ने छात्र-छात्राओं का प्रतिनिधित्व करते हुये कहा कि हम आप सभी के बताये मार्गो पर चलने का प्रयास करेंगे। साथ ही धनतेरस की प्रासंागिकता को भी समझाने का प्रयास करते हुये दिन विषेष से जुड़े पौराणिक कथा भी सुनाया। इस दौरान छात्र-छात्राओं ने महाविद्यालय के खेल प्रांगण में पटाखे फोड़ कर उत्सव मनाया। सम्पूर्ण कार्यक्रम का सफल संचालन सहायक प्राध्यापक गणित सुश्री वैषाली मिश्रा ने किया।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button