अफसर अरेस्ट, बरामद हुआ था रिश्वत का पैसा

शिक्षामंत्री का करीबी अफसर रिश्वतखोरी में गिरफ्तार

छत्तीसगढ़ में भ्रष्टाचार में लिप्त एक अधिकारी को रिश्वत का पैसा बरामद किए जाने के बावजूद अब जाकर साल भर बाद गिरफ्तार किया गया है. राज्य की एंटी करप्शन ब्यूरो ने सोमवार को बस्तर के जिला शिक्षा अधिकारी सुभाष गंजीर को गिरफ्तार कर लिया. ACB को आरोपी अफसर से पूछताछ और सबूतों को इकट्ठा करने के लिए 7 जून तक पुलिस रिमांड मिल गई है.

आरोपी अफसर राज्य के शिक्षामंत्री केदार कश्यप का करीबी बताया जा रहा है. गौरतलब है कि करप्शन के इस केस में पिछले साल ही अफसर के घर से रिश्वत का पैसा बरामद हुआ था. बड़े पैमाने पर मिली अवैध संपत्ति के बावजूद ACB ने सुभाष गंजीर की गिरफ्तारी को लेकर को खास दिलचस्पी नहीं दिखाई थी.

साल भर से उसकी गिरफ्तारी का मामला अटका हुआ था. भ्रष्टाचार के मामले में रंगेहाथों धरे जाने के बावजूद बस्तर के तत्कालीन जिला शिक्षा अधिकारी को मिले सरकारी संरक्षण के चलते ACB पर उंगलिया उठ रही थीं. इस गिरफ्तारी से शिक्षा विभाग ही नहीं शिक्षा मंत्रालय में भी हड़कंप मचा हुआ है.

हाई प्रोफ़ाइल जिला शिक्षा अधिकारी सुभाष गंजीर को उनके वृंदावन कॉलोनी स्थित बंगले से गिरफ्तार किया गया. बस्तर की ACB टीम ने सुभाष गंजीर से प्राथमिक पूछताछ के बाद उन्हें अदालत में पेश किया. जहां से उन्हें दंतेवाड़ा की जिला जेल में दाखिल करा दिया गया.

बताया जाता है कि ACB की टीम ने अदालत से हफ्ते भर की पुलिस रिमांड मांगी थी, जिसे अदालत ने स्वीकार कर लिया. वर्ष 2017 में भ्रष्टाचार और रिश्वतखोरी के मामले में सुभाष गंजीर के दफ्तर और घर में ACB ने छापा मारा था.

छापेमारी के दौरान आरोपी अफसर के आवास से रिश्वत के 8.71 लाख रुपये नगद बरामद हुए थे. इसके अलावा ACB के हाथ आरोपी अफसर के घर से तीन किलो सोने के जेवरात समेत कई बेनामी संपत्ति और जमीनों के कागजात भी लगे थे. फिलहाल गंजीर की जब्त संपत्तियों की पड़ताल जारी है.

advt
Back to top button