छत्तीसगढ़

अधिकारी कर रहे हैं मनमानी, जनता को हो रही है परेशानी – संजीव अग्रवाल

जनता काँग्रेस छत्तीसगढ़ जे के प्रवक्ता व मीडिया समन्वयक संजीव अग्रवाल ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए बताया कि लोगों की परेशानियों और अधिकारियों की मनमानी के खिलाफ जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के रायपुर शहर अध्यक्ष ओम प्रकाश देवांगन के नेतृत्व में आज रायपुर स्थित रजिस्ट्रार आफिस का घेराव किया और उचित कार्रवाई हेतु आवेदन दिया। राजधानी रायपुर के समीप और आसपास की गरीब और मध्यमवर्गीय आम जनता, शासन द्वारा जमीनों के खरीद फरोख्त के रोजाना नीयम बदले जाने और जानकारी के अभाव के कारण त्रस्त है, साथ ही तहसीलदार और पटवारी भी नए नए नियमों से परेशान हैं व जिसके कारण लोगों से अवैध रूप से वसूली हो रही है।

बिना सोचे समझे बड़े अधिकारीयों द्वारा मौखिक रूप से आदेश देकर आनलाइन रजिस्ट्री हेतु अनेकों दिक्कतें पैदा कर दी गई हैं, लोग एक पखवाडा से भटक रहे हैं, बीमार व्यक्ति का पैसे के अभाव में ईलाज नहीं हो पा रहा है, हाईकोर्ट के आदेश के बावजुद छोटे रजिस्ट्री पर प्रतिबंध लगा हुआ है। 2200 वर्गफीट से ऊपर जमीन की रजिस्ट्री किया जा रहा है जिसे केवल अमीर लोग ही खरीद सकते हैं लेकिन गरीब जो 500 फीट, 800 फीट और अधिक से अधिक 1000 वर्गफीट खरीदकर अपना स्वयं का मकान बनाने का सपना संजोता है, उनके लिये सरकार ने रजिस्ट्री पर पुरी तरह रोक लगा दिया है। मतलब भाजपा सरकार के राज में केवल अमीरों का घर होगा, गरीब बेघर रहें या किराये के मकान में रहें, कुछ गरीबों की पूर्व में हुए रजिस्ट्री का प्रमाणीकरण भी नहीं किया जा रहा है जबकि उक्त संबंध में माननीय हाईकोर्ट ने प्रमाणीकरन करने हेतु आदेश दिया हुवा है।

यह कोर्ट की अवमानना है। पंजीयन कार्यालय के स्कैनिंग कार्य को 10 रू प्रतिपृष्ठ में कार्य करने वाले कतारबध होकर खडे़ हैं लेकिन 70 रू प्रतिपृष्ठ स्कैनिंग हेतु ठेके पर दे कर भ्रष्टाचार किया जा रहा है जिससे छत्तीसगढ़ की गरीब आमजनता की मेहनत की कमाई को सरकार ठेके पर कर लूट रही है। सरकार की भुईयां वेबसाइट में केवल कृषि भूमि का ही रिकार्ड दर्ज है यही नहीं अनेको त्रुटिपूर्ण जानकारी वेबसाईट में दर्ज है।

सर्वर डाउन जैसी समस्याओं और बंटाकन आदि समस्याओं के कारण गरीब आमजनता त्रस्त है। घेराव में प्रमुख रुप से ओमप्रकाश देवांगन प्रमोद झा, नकुल नायक, राजीव कश्यप, अमर गिदवानी, बबलू रजा, सिद्धीक कुरेषी, मो. फिरोज, सईद आलम, विपीन चैबे, अनिल भारती, अजय देवांगन, ईमरान रजा, वरुण चटर्जी, लक्ष्मी नारायण देवांगन, खुर्षीद भाई, भागवत साहू, सम्मी जोहरी, विक्रम राजपूत, संतोष चंद्राकर, सुभाष कुंडु, सिराज भाई, राजूभाई, नथेला धु्रव, भगत हरबंस, सीमा कौसिक, अनुसुईया राय, फूलमनी सोनवानी, वाहीद खान, प्रषांत सोनी, आमीर कुरेषी, नवाज खान, धु्रवराजपूत, वासू मानिकपूरी, तनवीररजा, सहाबुद्धीन, आकीब अंसारी, मुन्ना सेन, जाफर सुबोद, रिंकुरं धावा, कमलेष वर्मा, डाॅ.एम.डी. मनहरे, मानिक डांडे, कुलदीप चैहान, दसरु तांडी, महेंद्रसेन, देवराज भाट, यष पाटिल, महेष बंजारे, विकासमिश्रा, बिमलासाहू, सुदनसिकली, पुनितवर्मा, डाॅ.अमरजीत यादव, नईम जोहरी, सतीश साहू, नावेद खान, राकेश सारथी, पप्पु बघेल, हितेष, जितेन्द्र अग्रवाल, गजेन्द्र देवांगन, प्रमोद झा, प्रदीप साहू एवं डाॅ.आकाश देवांगन सहित सैंकड़ों जोगी कांग्रेस के कार्यकर्ता शामील थे। संजीव अग्रवाल ने बताया कि यदि एक सप्ताह के अंदर उपरोक्त समस्याओं का हल नही किया गया तो जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) द्वारा रायपुर शहर अध्यक्ष ओमप्रकाश देवांगन के नेतृत्व में उग्र आंदोलन किया जायेगा।

Tags
jindal