तेल उत्पादक देशों ने उत्पादन बढ़ाने से किया इंकार,भड़क सकते है पेट्रोल- डीजल के दाम

इस निर्णय से कच्चा तेल 80 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर चला गया

नई दिल्ली। पेट्रोल-डीजल को लेकर आपको एक बार ओर जोरदार झटका लग सकता है। क्यों कि तेल उत्पादक देशों ने उत्पादन बढ़ाने से इंकार कर दिया है।

सरकार पहले ही खजाने की हालत का हवाला देकर एक्साइज ड्यूटी घटाने से मना कर चुकी है। उनके इस निर्णय से कच्चा तेल 80 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर चला गया।

ग्लोबल ऐनलिस्टों का कहना है कि अमरीकी प्रतिबंधों के कारण ईरान से आपूर्ति घटने के बाद कीमत 100 डॉलर प्रति बैरल के पार जाने के आसार नजर आ रहे हैं।

सऊदी अरब ने दलील दी है कि आपूर्ति को लेकर ऐसी कोई समस्या नहीं है, जिसकी वजह से उत्पादन में अतिरिक्त इजाफा करना पड़े और सभी देशों को अपनी जरूरत के मुताबिक क्रूड ऑयल मिल रहा है।

ओपेक के फैसले को अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के लिए झटके के तौर पर देखा जा रहा है, जो तेल की कीमतों पर काबू पाने के तत्काल आपूर्ति बढ़ाने की मांग कर रहे थे।

पेट्रोलियम संबंधित प्रतिबंधों के चलते ईरान से ऑयल एक्सपोर्ट तेजी से घट रहा है, जो 4 नवम्बर से प्रभावी होगा।

रूस की अगुवाई में तेल उत्पादक और निर्यातक देशों (ओपेक) और उनके सहयोगियों ने पिछले हफ्ते फैसला किया था कि वे प्रतिबंध से प्रभावित ईरान से आपूर्ति में होने वाली किसी भी कमी को पूरा करने के लिए उत्पादन नहीं बढ़ाएंगे। इसके बाद सोमवार को क्रूड ऑयल प्राइस 2 डॉलर प्रति बैरल चढ़कर 81 डॉलर प्रति बैरल के करीब पहुंच गई।

Back to top button