धर्म/अध्यात्म

नास्तिकों से औसतन चार साल ज्यादा जीते हैं धार्मिक प्रवृत्ति के लोग : अध्ययन

वाशिंगटनः अमरीका में एक अध्ययन में यह बात सामने आई है कि नास्तिक लोगों के तुलना में धार्मिक प्रवृत्ति के लोग औसतन चार साल ज्यादा जीते हैं। अमरीका में मृतकों के ङ्क्षलग और वैवाहिक स्थिति को ध्यान में रखते हुए एक हजार से अधिक लोगों के विश्लेषण में यह बात सामने आई।

अमरीका के ओहियो स्टेट यूनिर्विसटी की डाक्टरेट की छात्रा लौरा वालेस ने कहा कि धार्मिक जुड़ाव का ङ्क्षलग की तरह ही दीर्घायु से सीधा संबंध है। धार्मिक प्रवृत्ति से जीवनकाल में कुछ वर्ष की बढोत्तरी होती है।

सोशल साइकोलोजिकल एंड पर्सनैलिटी साइंस पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन में पाया गया कि दीर्घायु होने का एक कारण इस तथ्य से भी जुड़ता है कि धार्मिक प्रवृत्ति के कई लोग सामाजिक संगठनों से जुड़े होते हैं और सामाजिक कार्य करते हैं।

Tags
jindal

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.