3 जून को सोमवती अमावस्या, वट सावित्री व्रत दिवस पर होगा शनिदेव अवतरण दिवस

मनीष शर्मा:

मुंगेली: आगामी माह के 03 जून को इस बार शिव की प्रिय और वर्ष 2019 की दूसरी सोमवती अमावस्या, सूर्यपुत्र और माता छाया के पुत्र शनिदेव जन्मेंगे। शनि जयंति पर जहाँ महिला अखण्ड सौभाग्य के लिये वट सावित्री व्रत भी रखेंगी वहीं साधना में सफलता देने वाला सर्वार्थ सिद्धि योग भी दिवस पर्यंत रहेगा।

ज्योतिषियों के अनुसार इस बार बन रहे विशेष संयोग साढ़ेसाती, अढैय्या के प्रकोप से परेशान जातकों को साधना में सफलता प्रदान करेंगे। वर्तमान ग्रहों की स्थित भी अलग – अलग राशियों के जातक पर अलग – अलग प्रभाव डालेंगी।

अनुसार ज्येष्ठ मास की कृष्ण पक्ष की अमावस्या 02 जून को दोपहर 04.40 बजे से लगेगी जो कि दूसरे दिन 03 जून को दोपहर 3.31 बजे तक रहेगी। इसके साथ ही 03 जून को सुबह 05.49 बजे से दिवस पर्यन्त तक सर्वार्थ सिद्धि योग भी बन रहा है। इस साल सुखद संयोग शनि जयंति पर बन रहे हैं जो शनि भक्तों को साधना में सफलता प्रदान करेंगे।

ज्योतिषाचार्याें के अनुसार इस साल 2019 में पूरे साल में केवल तीन सोमवती अमावस्या तिथि है। इसमें पहली सोमवती अमावस्या 04 फरवरी, दूसरी 03 जून और तीसरी 28 अक्टूबर को है। शनि हिन्दू ज्योतिष में नौ मुख्य ग्रहों में से एक है। शनि अन्य ग्रहों की तुलना में धीमे चलते हैं इसलिये इन्हें शनैश्चर भी कहा जाता है।

धनु राशि में शनि, जयंति पर रहेंगे वक्री :

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार ज्येष्ठ मास की अमावस्या तिथि पर सूर्य और छाया के पुत्र शनि का जन्म हुआ था। यमराज और यमुना शनिदेव के भाई – बहन हैं। शनि जयंति पर शनि की विशेष पूजा करनी चाहिये। सूर्य और चंद्रमा जब वृषभ राशि में होते हैं, तब शनि जयंति आती है। इस तिथि पर शनि वक्री हैं।

क्या पड़ेगा राशि पर प्रभाव :

शनि इस समय धनु राशि में वक्री है। इसके साथ केतु भी स्थित है। शनि का जन्म कृत्तिका नक्षत्र में हुआ था। कृत्तिका नक्षत्र के स्वामी सूर्यदेव हैं। शनि जयंति पर गरीबों को धन का दान करें, गरीबों की सेवा करनी चाहिये।

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार इस समय शनि की स्थिति का मेष, सिंह, कन्या, तुला, वृश्चिक राशि के लोगों पर मिश्रित असर हो रहा है। इन लोगों को सावधान होकर काम करना होगा। वृष, धनु, कुंभ, मीन राशि के लिये आगे समय अच्छा रह सकता है। मिथुन, कर्क, मकर राशि के लोगों को शनि सामान्य रहेगा।

Back to top button