छत्तीसगढ़

एक शाम रावण के नाम `शिखर से शून्य तक 30 को

रायपुर : बूढ़ापारा दशहरा उत्सव समिति की ओर से सप्रे स्कूल मैदान में 30 सितंबर को भव्य दशहरा उत्सव मनाया जा रहा है। शानदार आतिशबाजी, पतंगबाजी, रामलीला के बीच रावण, मेघनाथ और कुंभकरण के विशालकाय पुतले का दहन किया जाएगा। पहली बार किसी दशहरा उत्सव में रावण के प्रसंग को लेकर व्याख्यान होगा। प्रसिद्ध कथावाचक और जीवन प्रबंधन गुरु पंडित विजय शंकर मेहता शनिवार को शाम 4.30 से 6 बजे तक एक शाम रावण के नाम `शिखर से शून्य तक तक विषय पर अपना व्याख्यान देंगे।
समिति की ओर से जानकारी देते हुए मनीष वोरा ने कहा कि, दशहरा उत्सव की तैयारी अंतिम चरण में हैं। पंडित मेहता अपने व्याख्यान में बताएंगे की रावण की गलतियों और शिखर से शून्य तक की उनकी यात्रा से क्या सीखा जाए। जीवन में पढ़ा, लिखा, शिक्षित और विद्वान होना ही काफी नहीं हैं, संस्कारों के बिना कोरी शिक्षा किसी काम की नहीं रह जाती। संस्कार हमें दूराचरण से तो रोकते ही हैं, अहंकार से दूर भी रखते हैं। कोई व्यक्ति कितना भी शिक्षित हो विद्वान जब दुराचार पर उतर आए तो उसका पतन निश्चित हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button
%d bloggers like this: