दिल्ली चुनाव नतीजे पर मध्यप्रदेश के एक्स सीएम दिग्विजय सिंह ने भाजपा पर साधा निशाना

राजमाता के अंतिम संस्कार में शामिल होने रायपुर पहुंचे दिग्विजय सिंह

रायपुर: राजमाता देवेंद्र कुमारी सिंहदेव के अंतिम संस्कार में शामिल होने रायपुर पहुंचे मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह एय़रपोर्ट पर मीडिया से मुखाबित होते हुए दिल्ली चुनाव नतीजे पर भाजपा पर निशाना साधा.

एय़रपोर्ट पर उन्होंने कहा कि गृहमंत्री अमित शाह ने जो कहा था कि इतनी जोर से बटन दबाइए की शाहीन बाग तक उसका करंट पहुंचे. महबूबा की बेटी ने अच्छा बयान दिया है कि अच्छा बटन दबाया और करंट उनको लग गया है.

‘आप’ की तरफ शिफ्ट हुआ जनता का वोट

दिग्विजय सिंह ने कहा कि अच्छा संकेत है कि वो सारी शक्तियां जो धर्म के नाम पर नफरत फैलाते है. जिन लोगों ने नागरिकता कानून का राजनीतिक इस्तेमाल करने का प्रयास किया है. पूरे देश में इनका सफाया हो गया है.

जहां तक कांग्रेस का सवाल है तो लोकसभा में हमें आप से ज्यादा वोट मिले थे. लेकिन लगता है कि राज्य के चुनाव में लोगों ने उस व्यक्ति और उस पार्टी को वोट दिया जो भाजपा को हरा सकता था. दिल्ली की जनता का वोट आप की तरफ शिफ्ट हो गया.

राजमाता के अंतिम यात्रा में होंगे शामिल

रायपुर से दिग्विजय सिंह विशेष विमान से अम्बिकापुर जाएंगे. अंबिकापुर में मंत्री टीएस सिंहदेव की माता देवेंद्र कुमारी सिंहदेव की अंतिम यात्रा में शामिल होंगे. दिग्विजय सिंह ने उनके निधन पर दुख जताया है. राजमाता देवेंद्र कुमारी के दुखद निधन पर दिग्विजय सिंह उन्हें श्रद्धांजलि दिया. उन्होंने कहा कि उनका और हमारा एक पारिवारिक रिश्ता रहा है.

वह शांत महिला और एक दृढ़ इच्छाशक्ति वाली राजनेता थी. उनकी कमी हमें खलेगी. उनके समस्त परिवार को अपनी ओर से संवेदना व्यक्त किया. बता दें कि 86 वर्षीय राजमाता देवेंद्र कुमारी का दिल्ली के मेदांता अस्पताल में सोमवार को निधन हो गया था. अंबिकापुर के रानी तालाब में राजमाता का अंतिम संस्कार किया जाएगा.

देश की आर्थिक हालात खराब

रसोई गैस के बढ़े दाम को लेकर दिग्विजय सिंह ने कहा कि देश की आर्थिक हालात खराब है. महंगाई और बेरोजगारी बढ़ती जा रही है. अर्थव्यवस्था पर से लोगों का विश्वास उठता जा रहा है. जीएसटी के कलेक्शन कम होने से जो राज्यों का अधिकार जो कंपनशेसन राज्यों को मिलना था वो नहीं मिला.

राज्य सरकारों के प्रति बहुत बड़ा धोखा है. इसकी हम निंदा करते हैं. राज्यों का हक छीनने का अधिकार केंद्र सरकार को नहीं है. निर्मला सीतारमण को अपने बजट में जहां से काटना है काटे, लेकिन राज्य सरकारों का जो वैधानिक अधिकार है उसमें कमी नहीं करना चाहिए.

सीएए और एनआरसी वापस लेना चाहिए

सीएए को निश्चित तौर पर वापस लेना चाहिए, मैं तो शुरू से यह मांग करता आया हूं. सीएए को वापस लेना चाहिए और एनआरसी नहीं लगाने की घोषणा करनी चाहिए. अगर यह लागू हो गया तो अशांति और बढ़ेगी. अशांति के माहौल में न रोजगार बढ़ेगा और न इन्वेस्टमेंट आएगा.

Tags
Back to top button