गणतंत्र दिवस के अवसर पर सूबे की कांग्रेस सरकार दे सकते हैं कई सौगात

राज्य में 4 नये जिलों के साथ ही 2 नये संभागों का भी प्रस्ताव

रायपुर: सूबे की कांग्रेस सरकार गणतंत्र दिवस के अवसर पर प्रदेश वासियों को कई सौगातें दे सकते है। 26 जनवरी को प्रदेश में 4 नये जिलों और 2 नये संभाग की घोषणा सरकार द्वारा किया जा सकता है नये जिलों के सृजन की फाइल खुल गई है।

प्रदेश में नये जिलों को लेकर फिलहाल अधिकारी कुछ बताने से बच जरूर रहे हैं, लेकिन अंदरखाने में नये जिलों की कवायद चल रही है। बताया जा रहा है कि अगर किसी वजह से गणतंत्र दिवस पर नये जिलों की घोषणा न हो पाई तो भी इस साल स्वतंत्रता दिवस तक 04 नये जिले जरूर अस्तित्व में आ जाएंगे, राज्य में 4 नये जिलों के साथ ही 2 नये संभागों का भी प्रस्ताव है।

नये जिलों के गठन के बाद प्रदेश में जिलों की संख्या 27 से बढ़कर 31 हो जाएगी। साल-2000 में मध्यप्रदेश से अलग होकर छत्तीसगढ़ राज्य बना तब यहां जिलों की संख्या 16 थी। तत्कालीन मध्यप्रदेश सरकार ने साल-1998 में छत्तीसगढ़ में 8 नये जिले बनाए थे, उससे पहले यहां सिर्फ 8 जिले ही थे।

छत्तीसगढ़ राज्य के गठन के बाद पहली बार 11 मई साल-2007 को बस्तर संभाग में नारायणपुर और बीजापुर जिले बनाए गए इसके बाद जिलों की संख्या 18 हुई फिर 1 जनवरी साल-2012 में छत्तीसगढ़ सरकार ने बालोद, बेमेतरा, मुंगेली, बलौदाबाजार, गरियाबंद, कोंडागांव, सुकमा, बलरामपुर और सूरजपुर मिलाकर कुल 09 नये जिलों का गठन किया, वर्तमान में प्रदेश में कुल 27 जिले हैं।

1
Back to top button