दशहरे के दूसरे दिन दुर्गा मूर्ति विसर्जन में हुआ अनेकों जगाह उत्पात और मारपीट

अंकित राजपूत

बिलासपुर। मोहल्ले में घूमने का कारण पूछना दो युवकों के लिए महंगा पड़ गया। मोहल्ले में घूम रहे युवकों ने चाकू से हमला कर दिया।

हमले में एक युवक के पेट और दूसरे युवक के हाथ में चाकू लगा है। घटना की जानकारी मिलते होते ही मोहल्ले में हंगामा मच गया, जिससे आरोपी भाग निकले।

घटना सिविल लाइन पुलिस थाना क्षेत्र की है। पुलिस ने शनिवार को दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। यादव मोहल्ला मगरपारा निवासी संदीप यादव शुक्रवार रात करीब 11 बजे सावन यादव के घर के पास खड़ा होकर उससे बात कर रहा था।

उसी समय अविनाश यादव उर्फ अभि और योगेश वर्मा भी वहां पहुंच गए। संदीप ने दोनों से पूछा कि इतनी रात को यहां क्या कर रहे हो? बस इसी बात पर दोनों तरफ के युवकों में विवाद शुरू हो गया।

इसी बात से गुस्साए अविनाश ने जेब में रखा चाकू निकाला और संदीप यादव पर हमला कर दिया। चाकू का हमला संदीप ने हाथ से रोकना चाहा तो उसके हाथ में चोट लग गई। रोकने पर अविनाश ने सावन के पेट में चाकू मार दिया, इससे वह जमीन पर गिर पड़ा।

मोहल्ले में चाकूबाजी की घटना होते ही हंगामा मच गया जिससे दोनों आरोपी योगेश वर्मा तथा अविनाश यादव भाग निकले।

दो युवकों पर चाकू से जानलेवा हमला करने वाले आराेपी अविनाश यादव तथा योगेश वर्मा ने सोचा कि कुछ नहीं होगा इसलिए मामला शांत होते ही दोनों अपने-अपने घर पहुंच गए।

इसकी सूचना किसी ने टीआई जगदीश मिश्रा को दे दी। आरोपियों की तलाश में जुटी पुलिस सूचना मिलते ही उनके घर पहुंच गई और दोनों को पकड़ कर थाने ले आई।

सावन यादव व संदीप यादव पर जानलेवा हमला करने वाले भी उनके रिश्तेदार बताए गए हैं।

जानलेवा हमले के आरोपी योगेश वर्मा तथा अविनाश यादव के परिजन रातभर प्रयास में लगे रहे कि किसी तरह समझौता हो जाए। पुलिस के पास भी इस बात को लेकर पहुंचे लेकिन पुलिस ने हमलावरों के परिजनों को थाने से भगा दिया।

वहीं तोरवा थाना क्षेत्र के लालखदान दशहरा मैदान में शुक्रवार की रात दो पक्षों के बीच जमकर मारपीट हो गई। पुलिस ने दोनों पक्ष के लोगों को पकड़ा और थाने ले आई। इसी बीच किसी ने एक युवक की मौत की अफवाह उड़ा दी, बाद में यह गलत निकली।

हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी देवरीखुर्द निवासी आकाश मिश्रा पिता राजन मिश्रा अपने दोस्त लव सिंह, सोम सिंह, बब्बू सिंह व अन्य साथियों के साथ दशहरा मैदान में रावण दहन का कार्यक्रम देखने गया था।

आकाश मिश्रा का आरोप है कि वह व उसके सभी दोस्त रावण दहन देख रहे थे उसी समय दूधनाथ पासी व शंकर पासी कहने लगे कि ऊपर क्यों चढ़े आ रहे हो।

इसी बात पर दोनों पक्ष के बीच विवाद हुआ। वहीं दूसरे पक्ष के राजेश्वर पासी ने आरोप लगाया कि मैं जलेबी की दुकान के पास बैठा था तभी वहां राहुल तिवारी व इसके साथियों ने बेल्ट से पीटना शुरू कर दिया। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना था कि झगड़ा महमंद के लोगों ने शुरू किया।

Back to top button