नए साल के पहले ही दिन राजधानी लखनऊ को पीएम मोदी ने दी बड़ी सौगात

प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना में उत्तर प्रदेश को पहला पुरस्कार मिला है और यह पुरस्कार पीएम मोदी ने सीएम योगी को सौंपा.

लखनऊ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज नए साल के पहले ही दिन राजधानी लखनऊ को एक बड़ी सौगात दी. पीएम मोदी ने लाइट हाउस प्रोजेक्ट के तहत लखनऊ के शहरी गरीबों को 1040 फ्लैट की सौगात दी. वही प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी में उत्तर प्रदेश को पहला पुरस्कार भी प्रधानमंत्री ने आज दिया. कार्यक्रम में प्रधानमंत्री जहां वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़े तो वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंच पर मौजूद रहे.

नए साल 2021 की पहली तारीख लखनऊ के लोगों के एक बड़ी सौगात लेकर आई. आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजधानी में रह रहे ईडब्ल्यूएस श्रेणी के लोगों को उनके आशियाने के सपने को पूरा करने की दिशा में अफोर्डेबले हाउसिंग स्कीम की शुरुआत की. इसे नाम दिया गया है LHP यानी लाइट हाउस प्रोजेक्ट. इस प्रोजेक्ट के तहत राजधानी लखनऊ के अवध विहार योजना में आवास विकास की भूमि पर लगभग 2 एकड़ में शहरी गरीबों के लिए 1040 फ्लैट तैयार किए जाएंगे.

आइये आपको बताते है आखिर क्या कुछ खास है इस प्रोजेक्ट में

यह जोड़ना ईडब्ल्यूएस श्रेणी के लोगों के लिए है जिनकी वार्षिक आय 3 लाख तक है. इसमें हर एक फ्लैट का साइज 34.5 वर्ग मीटर रखा गया है. जिसमें एक बेड रूम, एक हॉल, किचन और टॉयलेट रहेगा. हालांकि एक फ्लैट की कुल कीमत तो 12 लाख 59 हजार रहेगी लेकिन इसमें लाभार्थी को 7 लाख 83 हज़ार की सब्सिडी सरकार की तरफ से दी जाएगी. और लाभार्थी को अपनी तरफ से महज 4 लाख 76 हज़ार ही अपने आशियाने के पाने के लिए देने होंगे. लाभार्थियों का चयन लाटरी के माध्यम से किया जाएगा. लखनऊ में इसकी जिम्मेदारी सूडा को दी गई है. इसमें 14 फ्लोर के पांच टावर बनाए जाएंगे. प्रोजेक्ट की कुल कीमत 131 करोड़ आएगी. लाइट हाउस प्रोजेक्ट के तहत बनने वाले फ्लैट को आधुनिक तकनीक से बनाया जाएगा, इतना ही नहीं इसमें निर्माण में प्री फैब्रिकेटेड चीजों का इस्तेमाल किया जाएगा. इसीलिए कहा जा रहा है कि ये 1 साल के भीतर बनकर तैयार हो जाएंगे. सरकार की योजना है कि 26 जनवरी 2022 से पहले इस योजना के लाभार्थियों को उनके फ्लैट की चाबी सौंप दी जाए.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एक साथ देश के 6 राज्यों में इस लाइट हाउस प्रोजेक्ट की शुरुआत की. इनमें यूपी, एमपी, गुजरात, त्रिपुरा, झारखंड और तमिलनाडु शामिल है. ये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजना में से एक है. क्योंकि प्रधानमंत्री ने 2022 तक सबके सिर पर छत का नारा दिया था और अब इस प्रोजेक्ट के शुरू होने से सबको आवास देने की सरकार की योजना साकार हो सकती है. वहीं प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना में उत्तर प्रदेश को पहला पुरस्कार मिला है और यह पुरस्कार प्रधानमंत्री ने सीएम योगी को सौंपा, जबकि दूसरे नंबर पर मध्य प्रदेश और तीसरे नंबर पर आंध्र प्रदेश रहा. वही बेस्ट म्युनिसिपल काउंसिल की केटेगरी में भी उत्तर प्रदेश का मिर्जापुर प्रथम आया. कुल 4 श्रेणियों में उत्तर प्रदेश को आज पुरस्कार मिले. सरकार के मंत्री कह रहे हैं कि यूपी में प्रधानमंत्री आवास योजना में सबसे ज्यादा काम हुआ है और ये ईनाम उसी काम की वजह से मिले हैं.

केंद्र सरकार की हाउसिंग फॉर ऑल योजना के तहत अब लाइट हाउस प्रोजेक्ट को देश के अन्य शहरों में भी जल्द शुरू करने की तैयारी है. इसके जरिए जहां शहरों में रह रहे ईडब्ल्यूएस कैटेगरी के लोगों के अपने आवास का सपना पूरा हो सकेगा तो वही कम बजट में एक बेहतर आशियाने का विकल्प लोगों को मिलेगा. और सम्भव है कि इससे आगे चलकर बिल्डरों के चक्कर मे फंस कर अपनी गाढ़ी कमाई गंवाने वालों को राहत भी मिलेगी.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button