सीएम राहत कोष में जमा होगी अधिकारियों-कर्मचारियों की एक दिन की सैलरी, आदेश जारी

बता दें कि प्रदेश के साढ़े 4 लाख सरकारी कर्मचारियों का एक दिन का वेतन करीब 300 से 400 करोड़ रुपए सीएम रिलीफ फण्ड में जमा होगा।

रायपुरः छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण को लेकर हाहाकार मचा हुआ है। रोजाना हो रही संक्रमितों की मौत और नए मरीजों के आंकड़ों का नया रिकॉर्ड बन रहा है। हालांकि हालात को देखते हुए सरकार ने प्रदेश के सभी जिलों में लाॅकडाउन लगा दिया है। वहीं, दूसरी ओर वैक्सीनेशन का काम भी जारों पर चल रहा है। संक्रमण काल में लोगों को राहत देने के लिए प्रशासन ने मुख्यमंत्री राहत कोष में अधिकारियों-कर्मचारियों के वेतन से एक दिन की राशि कटौती करने का निर्देश जारी किया गया है। बता दें कि प्रदेश के साढ़े 4 लाख सरकारी कर्मचारियों का एक दिन का वेतन करीब 300 से 400 करोड़ रुपए सीएम रिलीफ फण्ड में जमा होगा।

 

जारी निर्देश में कहा गया है कि कोविड-19 से प्रभावित प्रदेश के जरूरतमंद लोगों की सहायता हेतु दिनांक 13 अप्रैल 2021 को शासकीय अधिकारियों-कर्मचारियों से मुख्यमंत्री सहायता कोष में अंशदान देने की अपील की है। इसके अनुक्रम में राज्य के आईएएस एसोशिएसन, राज्य प्रशासनिक सेवा के सदस्यों, राजपत्रित अधिकारी संघ एवं अन्य विभिन्न संगठनों द्वारा अधिकारियों-कर्मचारियों के अप्रैल माह के वेतन से एक दिन के वेतन की कटौती करते हुए मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा कराने का अनुरोध किया गया है।

 

2 वित्त विभाग द्वारा इस हेतु अधिकारियों-कर्मचारियों के अप्रैल माह के वेतन से 1 दिन के वेतन की राशि की कटौती कर निम्नानुसार बजट शीर्ष में जमा कराने की सुविधा ई-पेरोल सॉफ्टवेयर के Utilities Menu के अंतर्गत Relief Fund Update option में उपलब्ध कराई गई है।

 

3 अतः उपरोक्तानुसार अप्रैल माह के वेतन से 1 दिवस की राशि का कटोत्रा सुनिश्चित करते हुए वेतन देयक तैयार कर कोषालय में प्रस्तुत करने का उत्तरदायित्व संबंधित कार्यालय प्रमुख आहरण एवं संवितरण अधिकारी का होगा। कृपया तदनुसार कार्यवाही किया जाना सुनिश्चित करें।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button