छत्तीसगढ़

हाथियों के आतंक से एक के बाद एक मौत, ग्रामीणों में दहशत

रोशन सोनी

सरगुजा। संभाग में दंतैल हाथियों का आतंक थमने का नाम ही नहीं ले रहा है, हाथियों के आतंक से सरगुजा संभाग थर्रा उठा है। यहां तक की ग्रामीणों में भी हाथियों के दहशत से काफी डर का माहौल बना हुआ है

वहीं देखा जाए तो उदयपुर वन परिक्षेत्र में मंगलवार को दंतैल हाथी का आतंक जारी रहा। हाथी ने पहले तो एक महिला व बुजुर्ग को कुचलकर मार डाला फिर हाथी के हमले में 2 ग्रामीण गंभीर रूप से जख्मी हो गए। एक घायल को इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

दूसरे घायल का इलाज उदयपुर स्वास्थ्य केन्द्र में ही चल रहा है। उदयपुर थाना क्षेत्र के ग्राम बेलढाब निवासी 40 वर्षीय अदलराम पिता लिगधु मंगलवार की सुबह 4.30 बजे गांव के ही जगन व 2 अन्य लोगों के साथ बहरालोरी जंगल जा रहा था।

चकेरी जंगल से दंतैल हाथी निकलकर अदल राम व जगन को दौड़ाने लगा। कुछ दूर जाने के बाद हाथी ने अदल के सिर पर सूंड से मार कर गिरा दिया।

हाथी ने किया ग्रामीण को घायल

इस दौरान हाथी जगन को भी चपेट में लेने के लिए दौड़ा, तब तक अदल राम वहां से भाग निकला। हाथी ने जगन को भी जमीन पर पटक कर जख्मी कर दिया। दोनों किसी तरह वहां से जान बचाकर भागे।
दोनों को इलाज के लिए उदयपुर स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया गया।

0-ग्रामीण की हालत गंभीर इलाज

यहां चिकित्सकों ने अदल राम की गंभीर हालत को देखते हुए उसे बेहतर इलाज के लिए अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल रेफर कर दिया। वहीं जगन का इलाज उदयपुर में ही चल रहा है।

गौरतलब बै कि उदयपुर वन परिक्षेत्र में दंतैल हाथी ने ग्राम परसा में ईंट भट्टी में मजदूरी करने वाली एक महिला को कुचलकर मारने के कुछ देर बाद ही अटेम नदी के किनारे एक वृद्ध की भी जान ले ली थी।

गांव में दहशत का माहौल

इस घटना से पूरे गांव में दहशत का माहौल है। वन अमले की दंतैल हाथी को नियंत्रित करने की सारी कोशिशें फेल नजर आ रही हैं। तीन दिन के भीतर इस हाथी ने 4 लोगों की जान ले ली है

Summary
Review Date
Reviewed Item
हाथियों के आतंक से एक के बाद एक मौत, ग्रामीणों में दहशत
Author Rating
51star1star1star1star1star
congress cg advertisement congress cg advertisement
Tags