दो आरोपियों में एक आरोपी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

डीआईजी सुदर्शन मंडल रामगढ़ थाना पहुंच कर छानबीन में जुट गए

दुमका:रामगढ़ थाना क्षेत्र के डांडो पंचायत के दामोडीह के ग्रामीणों ने सोमवार की शाम देसी कट्टे के साथ दो अपराधी लुखीराम बास्की और मंगल मुर्मू को पकड़कर रामगढ़ थाना पुलिस के हवाले किया था. रामगढ़ थाना पुलिस ने देर शाम दोनों युवकों को थाना लाकर पूछताछ करने के बाद हिरासत में रखा हुआ था.

पुलिस ने शुरू की जांच जानकारी के अनुसार इसमें एक अपराधी लुखीराम बास्की ने हिरासत में ही अपने जैकेट के सहारे कथित तौर पर खुदकुशी कर ली. इसकी सूचना मिलने पर डीआईजी सुदर्शन मंडल रामगढ़ थाना पहुंच कर छानबीन में जुट गए हैं.

डीआईजी मंडल ने बताया कि कल शाम में दो अपराधियों को पकड़ कर लाया गया था. सुबह देखा गया कि लुखीराम बास्की ने खुदकुशी कर ली है. उन्होंने आगे कहा कि घटना देखकर पहली नजर में लगता है कि उसने खुदकुशी है. एसडीओ के नेतृत्व में मामले की जांच की जाएगी. इस घटना में थाना प्रभारी विनय कुमार की लापरवाही को देखते हुए निलंबित करने की बात डीआईजी ने कही.

युवकों की जमकर धुनाई

दरअसल, सोमवार की शाम देवडांड़ थाना क्षेत्र अंतर्गत कैरासोल गांव का मंगल मुर्मू और रामगढ़ थाना क्षेत्र अंतर्गत भुस्कीबाड़ी गांव का लुखीराम बास्की बाइक पर सवार होकर डांड़ो पंचायत के मुखिया सुलेमान बास्की के घर पहुंचे थे. वहां पर दोनों युवकों ने मुखिया को देसी कट्टा दिखाते हुए धमकी दिया. युवकों ने कहा था कि वे लोग एक युवक की हत्या करने आए हैं. इसके बाद दोनों युवक मुखिया को धमकी देते हुए बाइक पर सवार होकर भुस्कीबाड़ी की तरफ भागने लगे.

हिम्मत दिखाते हुए कुछ लोगों के साथ दोनों युवकों का पीछा करने लगे. मुखिया ने शोर मचाकर भुस्कीबाड़ी के पास मंगल मुर्मू और लुखीराम बास्की को पकड़ लिया और उनके हथियार छीन लिया. इसके बाद दोनों युवकों को दामोडीह गांव लाया गया. यहां पर ग्रामीणों ने दोनों युवकों की जमकर धुनाई कर दी. फिर रामगढ़ थाना पुलिस को सूचित किया गया.

रामगढ़ थाना प्रभारी विनय कुमार पुलिस बल के साथ गांव पहुंचे और दोनों युवकों को गिरफ्तार कर हथियार के साथ थाना ले आए. फिलहाल इसमें एक युवक की हाजत (हिरासत) में मौत या आत्महत्या की घटना के बाद पुलिस की भूमिका संदिग्ध हो गई है. पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है.

शव के साथ आरोपी को बैठाने पर हंगामा दूसरी ओर, बास्की शव के साथ गाड़ी में अपने पति को बैठाते देख महिला पुलिस से हाथापाई करने लगी. आदिवासी भाषा में महिला ने पति से कहा कि आम गोयमे लगिह ईदीयेमियाकु (तुम्हें मारने ले जा रहा है गाड़ी से उतरो).

शव के साथ पति को बैठाए जाने का विरोध करती आरोपी की पत्नी शव के साथ पति को बैठाए जाने का विरोध करती दूसरे आरोपी की पत्नी दुमका जिले के रामगढ़ थाना में हाजत में कथित तौर पर खुदकुशी करने वाले मुनिबास्की के शव के साथ दूसरे आरोपी मंगल मुर्मू को पुलिस द्वारा बैठाने के दौरान जमकर हंगामा हुआ.

पुलिस के चंगुल से अपने पति मंगल को छुड़ाने के लिए बहामुनी पुलिस से हाथापाई करने लगी और जबरन अपने आरोपी पति मंगल को गाड़ी से खींच कर उतार लिया. गाड़ी से आरोपी को उतारते देख वहां मौजूद पुलिस थोड़ी देर के लिए हक्का-बक्का रह गई और भारी संख्या में पुलिस बल वाहन के पास पहुंचे.

महिला और उसके परिजनों को धक्का मारकर हटाया और आनन-फानन में दूसरी गाड़ी से मंगल को दुमका सेंट्रल जेल भेज दिया. वहीं मंगल की पत्नी बहामुनी किस्कू ने पुलिस पर आरोप लगाया कि उसके पति मंगल को मुनिबास्की की तरह ही मार देंगे.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button