छत्तीसगढ़

जिला चिकित्सालय बैकुंठपुर में एक विचाराधीन बंदी की मौत

परिजन ने जेल प्रबंधन पर लापरवाही करने का लगाया आरोप

कोरिया: अपराध क्रमांक 155/18 एसटी नंबर 75/18 धारा 302 के आरोप में 21 मई 2018 से उपजेल मनेन्द्रगढ़ में बंद विचाराधीन बंदी की मौत के बाद परिजन ने जेल प्रबंधन पर मौत की जानकारी नहीं देने एवं उपचार में लापरवाही करने का आरोप लगाया है।

परिजन का कहना है कि जेल प्रभारी के द्वारा स्वास्थ्य खराब होने की जानकारी हमें समय रहते नहीं दी गई। मौत हो जाने के बाद इसकी सूचना पुलिस कर्मचारियों ने 24 दिसंबर की सुबह लगभग 8 बजे घर पर दिया है।

बताया जा रहा है कि बंदी हत्या के मामले में मनेन्द्रगढ़ उपजेल में लगभग एक वर्ष से था। बीते 21 दिसंबर को कैदी की अचानक स्वास्थ्य बिगड़ी, जिसे उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मनेन्द्रगढ़ में भर्ती कराया गया था, जहां उसका उपचार चल रहा था।

इसी बीच स्वास्थ्य में सुधार नहीं आने पर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के चिकित्सकों ने जिला चिकित्सालय बैकुंठपुर में 23 दिसंबर की लगभग 3 बजे पहुंचे, जहां उपचार के दौरान कैदी की लगभग शाम 7.55 बजे मौत हो गई।

कैदी का स्वास्थ्य खराब हो जाने के कारण उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया गया था। जहां से जिला चिकित्सालय बैकुंठपुर रिफर कर दिया गया। जिला चिकित्सालय बैकुंठपुर में कैदी की मौत हो गई।

Tags
Back to top button