बिज़नेसमध्यप्रदेश

प्याज की महंगाई ने निकाला आंसू! 50 रुपए किलो तक पहुंचे दाम

कब तक मिलेगी राहत?.. जानिए

भोपाल। प्याज अब एक बार फिर आम जनता की आँखों से महंगाई के आंसू निकाल रहा है। अमूमन जनवरी-फरवरी माह में नए प्याज की आवक से प्याज के दाम कम हो जाते है लेकिन इस बार इन महीनो में प्याज के दाम आसमान पर पहुंच रहे हैं। राजधानी भोपाल में प्याज के दाम एक बार फ‍िर बढ़ने लगे हैं। यहां करीब एक-डेढ़ महीने में प्याज के भाव दोगुना तक बढ़ चुके हैं।

करोंद मंडी में थोक में अच्छी क्वालिटी का प्याज 40 से लेकर 47 रुपये प्रति किलो तक है, जबकि फुटकर में यह 50 रुपये किलो तक में बिक रहा है। प्याज की बढ़ती कीमतें व्यापारियों को भी हैरान कर रही है, क्योंकि इस सीजन में मंडी में प्‍याज बंपर आवक होती है और भाव 10 से 15 रुपये किलो तक रहते हैं। व्यापारी आवक कम होने को और मप्र के प्याज को दूसरे राज्यों में बेचे जाने के कारण भाव बढ़ने की वजह बता रहे हैं।

अबकी बार फसल आने में देरी हो गई है। प्याज के भाव में मार्च में कुछ राहत मिलने की उम्मीद है, क्योंकि तब तक अच्छी किस्म का प्याज मंडियों में आने लगेगा। प्याज के बढ़ते दामों पर सियासत भी खूब हो रही है प्याज के दाम से जनता की आँखों से आंसू निकल रहे है तो भाजपा-कांग्रेस एक दूसरे को जिम्मेदार बता रहे है।

कांग्रेस मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता बढ़ती प्याज की कीमतों के लिए भाजपा सरकार को जिम्मेदार बताते हुए कह रहे हैं कि बिचोलिये मजे कर रहे हैं इसलिए दाम बढ़ रहे हैं। भाजपा के प्रदेश मंत्री रजनीश अग्रवाल दावा कर रहे हैं कि मध्यप्रदेश प्याज उत्पादन में देश के अव्वल राज्यों में है लेकिन प्याज के दाम बढ़ने के अलग ही कारण बता रहे हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button