ऑनलाइन ठगी गिरोह का हुआ भांडाफोड़, मध्यप्रदेश पुलिस एसटीएफ ने लिया एक्शन

प्रदेश के सतना जिले से ताल्लुक रखने वाला छोटू आरोपियों का सरगना

इंदौर:

भारतीय बैंक खातों से बड़े पैमाने में रकम इधर से उधर करने और बैंकों में सेंध लगाने वाले पाकिस्तान के ऑनलाइन ठगी गिरोह का मध्यप्रदेश पुलिस एसटीएफ ने भांडाफोड़ कर आरोप में छह युवकों के ऊपर एक्शन लिया है .

एसटीएफ की इंदौर इकाई के पुलिस अधीक्षक जितेंद्र सिंह ने बताया कि आरोपियों की पहचान पुष्पेंद्र सिंह उर्फ छोटू सिंह (27), मनीष भालसे (23), नागेंद्र सिंह (28), सुजीत सिंह (22), करण सिंह (22) और ब्रजेंद्र सिंह (25) के रूप में हुई है. प्रदेश के सतना जिले से ताल्लुक रखने वाला छोटू सिंह इन आरोपियों का सरगना है.

सिंह ने बताया, “गिरफ्तार आरोपी उस पाकिस्तानी गिरोह से जुड़े हैं जो लॉटरी खुलने और अन्य झांसे देकर भारत के लोगों को जाल में फंसाता है और ऑनलाइन ठगी के जरिये उनसे बैंक खातों में रकम जमा कराताहै.”

उन्होंने बताया, “छोटू सिंह और उसके साथी भारत के बैंक खाताधारकों को धन का लालच देकर पाकिस्तानी गिरोह के लिए बैंक खातों का इंतजाम करते थे. फिर वे पाकिस्तानी ठगों के निर्देशों पर इन खातों के जरिये रकम का लेन-देन कराते थे.”

सिंह ने बताया कि एसटीएफ के हत्थे चढ़े आरोपी भारत में बैंक खातों के इंतजाम के बदले पाकिस्तानी गिरोह से सात फीसद कमीशन वसूलते थे. यह कमीशन उस रकम पर वसूला जाता था, जो ऑनलाइन ठगी के जरिये भारतीय बैंक खातों में जमा करायी जाती थी.

पुलिस अधीक्षक ने बताया, “हमें अब तक मध्यप्रदेश में इस गिरोह के करीब 40 बैंक खातों के बारे में पता चला है. हम इन खातों के जरिये हुए लेन-देन की जांच कर रहे हैं, ताकि पता लग सके कि ऑनलाइन ठगी की रकम पाकिस्तानी गिरोह के लोगों तक आखिर किस तरह पहुंचती थी.”

उन्होंने बताया, “हमें आरोपियों से पूछताछ में पता चला है कि उन्होंने भारतीय बैंक खातों में जमा रकम के जरिये पाकिस्तानी टीवी कनेक्शनों के लिये ऑनलाइन डीटीएच रीचार्ज भी कराये हैं.”

बहरहाल, एसटीएफ को केवल दो बैंक खातों की जांच के बाद ही अंदाजा हो गया है कि पाकिस्तानी गिरोह द्वारा भारत में बड़े पैमाने पर ऑनलाइन ठगी की जा रही है.

सिंह ने बताया, “ठग गिरोह से जुड़े एक बैंक खाते में पिछले एक साल के दौरान एक करोड़ 43 लाख रुपए की रकम जमा करायी गयी है. एक अन्य बैंक खाते में पिछले तीन महीने में 43 लाख रुपये जमा कराये गये हैं.” एसटीएफ मामले की विस्तृत जांच कर रहा है.

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
Back to top button