जॉब्स/एजुकेशनबड़ी खबरबिज़नेस

1 जुलाई से होगा नई कंपनियों का ऑनलाइन रजिस्‍ट्रेशन, आधार व स्‍व-घोषणा की होगी जरूरत

नई दिल्ली: सरकार ने कंपनियों के पंजीकरण के लिए दस्तावेजों व प्रमाणपत्रों को अपलोड करने की आवश्यकता को समाप्त कर स्व-घोषणा के आधार पर ऑनलाइन पंजीकरण कराने के नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। नए दिशा-निर्देश एक जुलाई 2020 से प्रभावी होंगे।

अधिकारियों ने कहा कि यह आयकर और माल एवं सेवा कर जीएसटी की प्रणालियों के साथ उद्यम पंजीकरण प्रक्रिया को जोड़ने से संभव हो पाया है। उन्होंने कहा कि जो भी जानकारियां प्रदान की जाएंगी, उनका सत्यापन स्थायी खाता संख्या पैन संख्या और जीएसटी पहचान संख्या जीएसटीआईएन से किया जा सकता है।

एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि आधार नंबर के आधार पर किसी उद्यम को पंजीकृत किया जा सकता है। अन्य विवरण किसी भी कागज को अपलोड करने या जमा करने की आवश्यकता के बिना स्व-घोषणा के आधार पर दिए जा सकते हैं। इस प्रकार यह सही अर्थों में एक दस्तावेज रहित उपाय है।

अधिसूचना में यह भी कहा गया कि अब एक लघु, सूक्ष्म एवं मध्यम एमएसएमई इकाइयों को उद्यम के नाम से जाना जाएगा। यह शब्द उपक्रम शब्द के अधिक करीब है। इसी तरह पंजीकरण प्रक्रिया को अब उद्यम पंजीकरण कहा जाएगा। जैसा कि पहले घोषित किया गया था।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button