पहली बारिश में खुली बालोद नगरपालिका की पोल

नालियों का पानी घरों में, नहीं पहुंचा सफाई अमला

बालोद। मानसून के शुरुआती दौर में बीती रात हुई बारिश से लोगों को गर्मी से राहत मिली है वहीं बारिश ने नगरपालिका के दावों की पोल खोलकर रख दी है। बारिश के बाद शहर में जगह-जगह जलभराव की स्थिति रही।

सबसे बुरा हाल स्टेशन रोड मरारपारा के बाबा रामदेव चौक का रहा। जहां रात में बारिश और नाली का पानी आसपास के घरों में भर गया। रातभर लोग नाली के गंदे पानी को बाहर निकालने की कोशिश में लगे रहे। जिला योजना समिति के सदस्य और पार्षद नितेश वर्मा, एल्डरमैन विनोद जैन और नरेंद्र सोनवानी ने नगरपालिका के उप अभियंता मुकेश कोर्राम को साथ लेकर बद से बदतर हालात का जायजा लिया।

सदस्य और पार्षद नितेश वर्मा ने बताया कि पूरे शहरी क्षेत्र में नालिया बजबजा रही हैं। साफ-सफाई से विभाग के अधिकारियों को कोई सरोकार नहीं है। मानसून के शुरुआती दौर में शहर के मुख्य मार्ग का यह हाल है तो भरी बरसात के दिनों में पूरे शहर का क्या हाल होगा?

एल्डरमैन विनोद जैन ने बताया कि शहर के अन्य क्षेत्रों में भी लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। ऐसे समय मे निकाय के अमले को सतर्क रहने की आवश्यकता होती है लेकिन, नगरपालिका बालोद में हालात विपरीत हैं।

वहीं एल्डरमैन नरेंद्र सोनवानी का कहना है कि मुख्य नगरपालिका अधिकारी हमेशा की तरह आज भी नदारत हैं। कार्यदिवस होने के बावजूद कार्यालय की अधिकांश कुर्सियां खाली हंै। निकाय की उदासीनता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि रात की बारिश से नाली की गंदगी सड़कों और गलियों में पड़ी है।

दोपहर तक सफाई अमला पहुंचा नहीं है, अब दुर्गंध से लोग परेशान है। प्रभावित क्षेत्र का जायजा लेने के बाद जिला योजना समिति के सदस्य और पार्षद नितेश वर्मा ने मुख्य नगरपालिका अधिकारी को लिखित में शहर की सभी नालियों को अभियान चलाकर साफ कराने और बाबा रामदेव चौक पर उपजे हालात के तत्काल समाधान की मांग की है।<>

Back to top button