ईस्ट दिल्ली खुले में शौच मुक्त घोषित ‘बोतल परेड’ ने खोली पोल

मोदी सरकार के सबसे बड़ा अभियान छेड़ा है लेकिन ऐसा लगता है कि लोग दिल्ली में ही स्वच्छता अभियान को लेकर गंभीर नहीं है

पूर्वी दिल्ली नगर दिल्ली ने अपने इलाके को खुले में शौच से मुक्ति की घोषणा कर दी है लेकिन क्या वाकई पूर्वी दिल्ली खुले में शौच मुक्त हो गई है इसी का हमने रियलिटी चेक किया. जमीन पर हालात जानने से पता चला कि दिल्ली में लोग बोतल परेड करते हैं.

मतलब हर रोज़ सुबह लोग पानी की बोतल लेकर बाहर शौच करने जाते हैं.

यह बोतल पार्टी सुबह 6 बजे से दिल्ली के आईटीओ इलाके से लेकर गीता कॉलोनी तक रोज होती है. हाथों में पानी की बोतल लिए लोग झाड़ियों में शौच के लिए जाते हैं. सभी के अपने-अपने तर्क हैं, कुछ तो सरकारी खामियों पर सवाल खड़ा कर रहे है तो कुछ अपनी मर्ज़ी से खुले में शौच करते हैं.

खुले में शौच करने वाले कई ऐसे भी लोग थे जिन्होंने केंद्र सरकार की सबसे बड़ी योजना स्वच्छ भारत मिशन का नाम तक नहीं सुना था. पीएम मोदी के बारे में जानते हैं लेकिन स्वच्छ भारत क्या है उनको नहीं पता.

पूर्वी दिल्ली नगर निगम ने अपने इलाके को खुले में शौच फ्री जोन घोषित दिया है. ऐसा लगता है एमसीडी को बहुत जल्दी थी अपनी ही पीठ थपथपाने की. लेकिन जब रियलिटी चेक में दावा भी फेल हो गया .

पूर्वी दिल्ली नगर निगम ने हर जगह पब्लिक टॉयलेट बनाएं हैं लेकिन फिर भी लोग टॉयलेट का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं.

Back to top button