जिले में 88 धान खरीदी केंद्र संचालित, कलेक्टर ने भ्रमण कर दिये आवश्यक निर्देश

मनीष शर्मा :

मुंगेली :

मुंगेली जिले में खरीफ विपणन वर्ष 2018-19 में 88 उपार्जन केन्द्रों में धान खरीदी का कार्य 01 नवम्बर 2018 से प्रारंभ हो चुका है, जिसमें आज कलेक्टर द्वारा दो उपार्जन केन्द्र हथनीकला एवं जरहागांव का सघन भ्रमण किया गया।

जिसमें उपार्जन केन्द्र हथनीकलॉ में नमी मापक यंत्र खराब पायी गई जिसे तत्काल सुधार कराते हुये समिति के प्रभारी के विरूद्ध सहायक पंजीयक, सहकारी संस्थाये मुंगेली को कार्यवाही किये जाने हेतु निर्देशित किया गया है।

कलेक्टर ने समिति को स्पष्ट हिदायत दी है कि 17 प्रतिशत से ज्यादा नमी का धान किसी भी स्थिति में न खरीदा जाये, किसानों को साफ-सुथरा एवं सुखा हुआ धान लाने हेतु समझाईश दी गई एवं समिति को निर्देशित किया गया कि साफ-सुथरा एवं सूखा धान ही खरीदे।

किसी भी स्थिति में कई प्रकार के मिले हुये धान न खरीदे। कोचियों/बिचौलियों के माध्यम से धान की बिक्री न हो यह सुनिश्चित करने हिदायत दी गई है। खाद्य अधिकारी

एवं जिला विपणन अधिकारी को बारदाना की कमी किसी भी स्थिति में न होने के लिये आवश्यक निर्देश दिये गये एवं कोचियों/बिचौलियों के विरूद्ध लगातार कार्यवाही किये जाने हेतु निर्देशित किया गया है।

जिले में अब तक 28 प्रकरण कोचियों/बिचौलियों के विरूद्ध प्रकरण दर्ज किये गये है। अवैध प्राप्त धान की मात्रा अनुसार 5 गुना कर वसूली की कार्यवाही की गई है। कलेक्टर द्वारा कृषकों के बेचे गये धान के भुगतान के संबंध में भी निर्देशित किया गया है कि भुगतान खरीदी उपरांत कृषकों के खाते में हस्तांतरित की जावें।

इस वर्ष समर्थन मूल्य के साथ साथ बोनस की राशि एक साथ भुगतान किया जा रहा है। हथनीकलॉ उपार्जन केन्द्र में कृषकों को भुगतान होना किसानों के द्वारा अवगत कराया गया है।

जिले में अब तक 23000 मे. टन की खरीदी हुई है। जिसमें से 10500 मे.टन का उठाव मिलरों के माध्यम से करा लिया गया है, शेष धान का भी उठाव समय पर करा लिया जावेगा।

1
Back to top button