ऑपरेशन ऑल आउट – घाटी में मौजूद 243 आतंकियों में 59 विदेशी आतंकी

श्रीनगर : कश्मीर घाटी में सेना के ऑपरेशन ऑल आउट के बीच घाटी में मौजूद कुल 243 आतंकियों में 59 विदेशी आतंकियों की मौजूदगी की जानकारी मिली है। जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इस बारे में जानकारी दी है। अधिकारी के मुताबिक घाटी में पिछले 6 महीने के भीतर 75 युवाओं के आतंकी संगठनों में जाने की भी सूचना मिली है। इसके बाद अब एजेंसियां और सेना इसकी जांच कर रही हैं। घाटी में आतंक का रास्ता थामने वाले युवाओं में शिक्षित युवाओं की बड़ी संख्या शामिल है।

एक आंकड़े के मुताबिक इस साल केवल पांच महीने की समयावधि में घाटी में 75 कश्मीरी युवक आतंकवाद से जुड़े हैं। अधिकारी ने बताया कि एक रिकॉर्ड के मुताबिक 2010 से अब तक सबसे अधिक 2017 में 127 युवक आतंकवाद से जुड़े थे। अधिकारी ने दावा किया कि 2016 में 88 कश्मीरी युवक आतंकवाद में शामिल हुए।

बता दें कि इससे पहले राज्य के डीजीपी एस पी वैद ने मंगलवार को यह कहा था कि कश्मीर में रमजान के सीजफायर के दौरान आतंकी गतिविधियां बढ़ी हैं और इसे देखते हुए आने वाले वक्त में आतंकियों के खिलाफ बड़े ऑपरेशन किए जा सकते हैं। डीजीपी ने कहा था कि राज्यपाल शासन से प्रदेश में आतंक के खिलाफ ऑपरेशंस पर कोई असर नहीं होगा और रमजान में बढ़ी आतंकी गतिविधियों के मद्देनजर यह अभियान तेज किए जाएंगे।

बता दें कि इससे पहले मई महीने में भारत सरकार की ओर से कश्मीर घाटी में एकतरफा सीजफायर का ऐलान किया गया था। इस घोषणा के बाद कश्मीर घाटी में सुरक्षाबलों के आतंक विरोधी ऑपरेशंस को स्थगित किया गया था। हालांकि इस दौरान कश्मीर में कई बड़ी आतंकी वारदातें हुई थीं।

सीजफायर के दौरान हुई थी कई आतंकी वारदातें : इस अवधि के दौरान घाटी में कई सियासी नेताओं और पुलिसकर्मियों के घर पर हमले किए गए थे। इसके अलावा दक्षिण कश्मीर के जिलों में हथियार और बैंक लूट की वारदात को भी अंजाम दिया गया था। सीजफायर की मियाद खत्म होने के बाद कश्मीर में फिर से आतंक के खिलाफ कार्रवाई शुरू की गई थी। इसके बाद राज्य में महबूबा सरकार से बीजेपी की समर्थन वापसी के बाद राज्यपाल शासन लगा दिया गया था।

Back to top button