राष्ट्रीय

हर महीने 30 हजार पाने का मौका, PNB की इस खास स्कीम के बारे में.. जानिए

बता दें कि नेशनल पेंशन सिस्टम को जनवरी 2004 में सरकारी कर्मचारियों के लिए शुरू किया गया था।

नई दिल्ली। पीएनबी ग्राहकों को नेशनल पेंशन सिस्टम खाता खुलवाने की सुविधा दे रही है। NPS एक ऐसी योजना है जिसके तहत अपने बुढ़ापे के लिए पैसे का इंतजाम किया जाता है। बता दें कि नेशनल पेंशन सिस्टम को जनवरी 2004 में सरकारी कर्मचारियों के लिए शुरू किया गया था। इसे 2009 में सभी कैटेगरी के लोगों के लिए खोल दिया गया।

ऐसे खुलवाएं e-NPS खाता

एनपीएस खाता खुलवाने के लिए सबसे पहले पीएनबी (PNB) की आधिकारिक वेबसाइट पर लॉग-इन करें। ऑनलाइन सब्सक्राइबर रजिस्ट्रेशन पेज पर न्यू रजिस्ट्रेशन लिंक पर क्लिक करें। अपना वर्चुअल आईडी नंबर डाल कर रजिस्टर्ड नंबर पर ओटीपी प्राप्त करें। एकनॉलेजमेंट नंबर जेनरेट कर व्यक्तिगत जानकारी भरें। जानकारी भरने के बाद पीआरएएन नंबर प्राप्त कर लॉग-इन करें।

पीएनबी की वेबसाइट के मुताबिक, बैंक ने हमारी सभी शाखाओं के माध्यम से नेशनल पेंशन सिस्टम शुरू की है. पीएनबी को प्वाइंट ऑफ प्रेजेंस के रूप में पंजीकृत किया गया है। बैंक ने कहा, हमारी सभी शाखाएं एनपीएस संचालन के लिए इंडीविजुअल की सहायता के लिए प्वाइंट ऑफ प्रेसेंस-शाखाएं के रूप में कार्य करेंगी।

NPS में दो तरह के अकाउंट होते हैं। पहला टियर-I और दूसरा टियर-II. टियर-I एक रिटायरमेंट अकाउंट होता है, जिसे हर सरकारी कर्मचारी के लिए खुलवाना अनिवार्य है। वहीं टियर-II एक वॉलेंटरी अकाउंट होता है, जिसमें कोई भी वेतनभोगी अपनी तरफ से निवेश शुरू कर सकता है और कभी भी पैसे निकाल सकता है। NPS में निवेश के लिए न्यूनतम आयु सीमा 18 साल है. जबकि अधितकम उम्र 60 साल है।

ऐसे मिलेंगे हर महीने 30 हजार रुपए
NPS में मंथली निवेश- 5,000 रुपए
30 साल में कुल योगदान- 18 लाख रुपए
निवेश पर अनुमानित रिटर्न- 10%
मैच्योरिटी पर कुल रकम- 1.13 करोड़ रुपए
एन्युटी की खरीद- 40%
अनुमानित एन्युटी रेट- 8%
टैक्स फ्री विड्रॉल- मैच्योरिटी अमाउंट का 60%
60 की उम्र पर पेंशन- 30,391 रुपए महीना
एकमुश्त कैश- 68.37 लाख रुपए

यहां NPS कैलकुलेटर पर 40 फीसदी रकम से एन्युटी खरीदने पर कैलकुलेशन किया गया है। 40 फीसदी एन्युटी खरीदना जरूरी है.

राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली में निवेश करने से आप भविष्य की चिंताओं से मुक्ति पाने के साथ -साथ कई अन्य सुविधाएं भी प्राप्त कर सकते हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button