मस्जिदों को आदेश, WhatsApp के जरिये करे अज़ान.. पढ़िए पूरी खबर

ध्वनि प्रदूषण से बचने सरकार ने कहा, मस्जिदों और चर्च में लाउडस्पीकरों की जगह पर वॉट्सऐप का करे इस्तमाल

घाना: ध्वनि प्रदूषण से बचने के लिए घाना की सरकार ने कहा है की मस्जिदों और चर्च में लाउडस्पीकरों की जगह पर वॉट्सऐप का इस्तमाल कतर के लोगों को बुलाया जाए. जिससे की आफ्रिका में ध्वनि प्रदूषण पर नियंत्रण किया जा सके. हालही में आय रिपोर्ट्स के मुताबिक आफ्रिका के बड़े शहरो में यातायात, स्पीकरों के कानफोड़ू आवाजो के कारण आफ्रिका में ध्वनि प्रदूषण बढ़ा हैं. इसी से निपटने के लिए सरकार ने ये फैसला लिया हैं.

घाना के पर्यावरण मंत्री ने कहा – “नमाज के लिए टेक्स्ट मैसेज या वॉट्सऐप के जरिये क्यों नहीं बुलाया जा सकता है? इसलिए इमाम सभी को वॉट्सऐप मैसेज भेजेगा” और इससे ध्वनि प्रदूषण में कमी आयगी, यह विवादास्पद हो सकता है लेकिन यह वो चीज है जिसके बारे में हम सोच सकते हैं.

वही कुछ लोगों ने सरकार के इस फैसले को गलत बताया हैं और कहा है की मस्जिदों और चर्च में लाउडस्पीकरों का इस्तमाल गलत नहीं है, इसके जरिये शिक्षा भी दी जाती है और प्रात:काल में लोगों को नमाज के लिए बुलाया जाता हैं. आपको बता दे की विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेतावनी दी हैं की बढ़ते शोर-शराबे से हृदय रोग, नींद की बीमारी समेत कई छोटी और बड़ी बीमारियां अफ्रीका में बढ़ सकती हैं.

Back to top button