छत्तीसगढ़

तत्कालीन अधिकारी मधुलिका सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश

बिलासपुर सीएमएचओ कार्यालय में 4 करोड़ 90 लाख के घोटाले की हुई पुष्टि

बिलासपुर: इंदिरा स्वास्थ्य मितानिन कार्यक्रम में 45.20 लाख की गड़बड़ी, अंधत्व निवारण कार्यक्रम में 41.95 लाख का घोटाला, नसबंदी ऑपरेशन में 14.96 लाख की अनियमितता और स्वीकृत पद से अधिक स्टॉफ रखकर 13.62 लाख का भुगतान करने के आरोप में राज्य शासन को तत्कालिन अधिकारी मधुलिका सिंह के खिलाफ हाईकोर्ट ने एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है।

सीएमएचओ कार्यालय में हुए घोटाले को लेकर दिलीप यादव व रायपुर निवासी एस संतोष कुमार ने अपने वकील योगेश्वर शर्मा के माध्यम से हाईकोर्ट में जनहित याचिका लगाई थी। मामले की सुनवाई गुरुवार को चीफ जस्टिस पीआर रामचंद्र मेनन व जस्टिस पीपी साहू की युगलपीठ में हुई। कोर्ट ने इस मामले में से सम्बंधित दस्तावेज पुलिस महकमे के आला अफसरों आईजी और एसपी को देने कहा है।

हाईकोर्ट की तरफ से कहा गया है कि राज्य शासन भी इस मामले में दोषी के खिलाफ विभागीय जांच, वसूली व अन्य कार्रवाई करें। इसके अलावा याचिकाकर्ताओं को आपराधिक और सर्विस मेटर दायर करने की भी छूट हाईकोर्ट ने दी है।

Tags
Back to top button