एमएसएमई प्रमोशन प्रोग्राम के तहत आगामी 4 जनवरी से होगा शिविरों का आयोजन

ब्यूरो रिपोर्ट मनोज मिश्रा

महासमुंद: कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने आज यहां जिला कार्यालय के सभाकक्ष में समय-सीमा की बैठक लेकर काम-काज की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि महासमुंद जिला देश के आकांक्षी जिलों में शामिल है, इसके तहत विभिन्न गतिविधियों का संचालन किया जा रहा है।

इन गतिविधियों के संचालन में सम्मिलित विभाग के अधिकारी विशेष रूप से समन्वय बनाकर गतिविधियों में तेजी लाए और योजनाओं का संचालन करें। उन्होंने विशेष रूप से महिला एवं बाल विकास विभाग तथा स्वास्थ्य विभाग के तहत संचालित गतिविधियों में तेजी लाने और हितग्राहियों को लाभान्वित करने के लिए कार्य योजना अनुरूप समन्वय बनाने के निर्देश दिए।

समय-सीमा की बैठक में कलेक्टर जैन ने कहा कि केन्द्र शासन की सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यमिता (एमएसएमई) प्रमोशन प्रोग्राम के अंतर्गत ऋण प्रदान किए जाने के संबंध में सभी संबंधित विभागों को बैक के साथ संपूर्ण जिले में प्रत्येक शुक्रवार को कैम्प लगाकर योजनाओं से सीधे हितग्राहियों को लाभान्वित करने के लिए कैंप स्थल पर ही प्रकरण तैयार कर ऋण स्वीकृत करने की कार्रवाई पूरी कराए।

बैकों के माध्यम से स्वीकृत एवं वितरण

उन्होंने बैकों के माध्यम से स्वीकृत एवं वितरण की भी कार्रवाई कराने आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि जिले के विभिन्न विकासखंडों में चिन्हांकित स्थानों पर इसके लिए आगामी 4 जनवरी से शिविरों का आयोजन किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि आगामी 4 जनवरी 2019 को बागबाहरा में, 11 जनवरी को भंवरपुर में, 19 जनवरी को बिरकोनी में, 25 को सरायपाली में, एक फरवरी को महासमुंद में 8 फरवरी को पिथौरा में 15 फरवरी को बसना में, 22 फरवरी को गढ़फुलझर में एवं एक मार्च 2019 को अछोला में शिविर का आयोजन किया जाएगा।

कलेक्टर ने कहा कि इन शिविरों में संबंधित विभाग के अधिकारी अपने-अपने विभागों से संबंधित योजनाओं के पाम्पलेट, बैनर भी लगाए और उसकी जानकारी भी लोगों को दे। इन शिविरों में ऋण प्रकरणों को स्वीकृत कर वितरण कराना सुनिश्चित करें।

वसूली सहित राजस्व, भू-अभिलेख, डिजीटल सिग्नेचर आदि की जानकारी ली

बैठक में कलेक्टर ने पंचायतों की वसूली सहित राजस्व, भू-अभिलेख, डिजीटल सिग्नेचर आदि की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि नामांतरण, बंटवारे आदि की कार्यों के निराकरण के लिए विशेष रूप से अभियान चलाकर कार्रवाई पूरा करें।

उन्होंने यह भी कहा कि विद्यालयों के विद्यार्थियों के लिए जाति प्रमाण पत्र वितरण करने की कार्रवाई सुनिश्चित करने के लिए उन्होंने विशेष रूप से जिला शिक्षा अधिकारी, आदिवासी के सहायक आयुक्त तथा राजस्व विभाग के अधिकारियों को निर्देेशित किया।

उन्होंने समाज कल्याण, लोक निर्माण विभाग, कलेक्टर जनदर्शन, महिला एवं बाल विकास विभाग सहित अन्य विभागों के कार्यो, योजनाओं की भी समीक्षा की। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री ऋतुराज रघुवंशी, अपर कलेक्टर शरीफ मोहम्मद खान, आलोक पाण्डेय, संयुक्त शिवकुमार तिवारी, अनुविभागीय अधिकारीगण सहित विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

1
Back to top button