नवापारा नगर के सेठ फूलचंद कॉलेज में अतिथि व्याख्यान का आयोजन

- दीपक वर्मा

अभनपुर: गोबरा नवापारा नगर के सेठ फूलचंद अग्रवाल स्मृति कालेज के शिक्षा संकाय में विभागाध्यक्ष डॉ देवाशीष महापात्र के निर्देशन एवं संयोजन में एक दिवसीय अतिथि व्याख्यान का आयोजन किया गया। इस व्याख्यान में व्याख्यान कर्ता के रूप में विकास शिक्षा महाविद्यालय रायपुर के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर चक्रधर नायक जी उपस्थित हुए। व्याख्यान का मुख्य विषय “जेंडर एंड स्कूलिंग: एनालिसिस ऑफ गर्ल्स एजुकेशन इन स्कूलिंग” था।

इस आयोजन का मुख्य उद्देश्य B.Ed चतुर्थ सेमेस्टर के पाठ्यक्रम विषय स्कूल, जेंडर, एंड सोसायटी के अंतर्गत उल्लेखित बिंदु में अतिथि व्याख्यान के माध्यम से प्रशिक्षणार्थियों को विशेष मार्गदर्शन प्रदान करना था। अतिथि व्याख्यान का शुभारंभ व्याख्यान हेतु आमंत्रित प्रोफेसर चक्रधर नायक के द्वारा मां सरस्वती के छायाचित्र पर पूजा अर्चना एवं माल्यार्पण समर्पित कर किया गया इस दौरान प्रशिक्षणार्थियों द्वारा मां सरस्वती की वंदना प्रस्तुत किए गए अतिथि देवो भव: की परंपरा को निभाते हुए आतिथ्य स्वागत में प्रोफेसर नैना पहाड़िया के द्वारा अतिथि महोदय का पुष्पगुच्छ भेंट कर सम्मान किया गया।

व्याख्यान आरंभ करते समय सबसे पहले आदरणीय प्रोफेसर चक्रधर नायक के द्वारा इस आमंत्रण के लिए विभाग को विशेष धन्यवाद प्रेषित किया गया एवं प्रशिक्षणार्थियों को संबोधित करते हुए चर्चा के विषय पर विस्तृत चर्चा किए गए जिसमें प्रशिक्षणार्थियों को बताया गया कि मानव जीवन से लेकर वर्तमान परिपेक्ष में बालिकाओं की शिक्षा का स्तर निरंतर सकारात्मक रूप से परिवर्तनशील रहा है परंतु आज भी समाज में विद्यालय स्तर से लेकर जीवन स्तर के सभी पक्षों में बालिकाओं को और ज्यादा आगे लाने की आवश्यकता है

सामाजिक भेदभाव के हर पहलुओं को खत्म कर समग्र समानता के लक्ष्य को स्थापित करना बहुत ही जरूरी है विभिन्न सामाजिक रूढ़ीवादी परंपराओं को मिटाते हुए बेटियों का सम्मान हर स्तर पर करना बेहद जरूरी है इसके लिए विभिन्न जागरूकता कार्यक्रम के माध्यम से लोगों में जागरूकता लाया जा रहा है जैसे बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ एवं शासन के विभिन्न योजनाएं सरस्वती साइकिल योजना नोनी सुरक्षा योजना के माध्यम से बालिकाओं की शिक्षा हेतु समग्र प्रयास आज होना शुरू हो चुका है शिक्षा के क्षेत्र में बालिका शिक्षा समाज की और आज की सबसे बड़ी आवश्यकता है और वर्तमान परिपेक्ष ऐसा कोई क्षेत्र नहीं होगा जहां पर बालिकाओं ने एवं महिलाओं ने अपने हुनर साबित ना किया हो इसलिए यह बेहद जरूरी है कि बिना किसी लैंगिक भेदभाव के बालिकाओं की शिक्षा हेतु प्रयास किया जाए।

व्याख्यान के दौरान प्रशिक्षणार्थियों में सारिका वैष्णव लोचन कुमार देवांगन कल्याणी साहू ज्योतिषस्मिता दास के द्वारा विभिन्न प्रश्नों के माध्यम से अपने समस्याओं का समाधान किया गया।
अतिथि व्याख्यान के इस आयोजन में B.Ed चतुर्थ सेमेस्टर के सभी प्रशिक्षणार्थी उपस्थित रहे व्याख्यान के पश्चात शिक्षा संकाय के विभाग अध्यक्ष डॉ देवाशीष महापात्र के द्वारा आदरणीय प्रोफेसर चक्रधर नायक सर का शिक्षा संकाय की ओर से प्रतीक चिन्ह भेंट कर सम्मान किया गया एवं व्याख्यान के लिए दिए गए अमूल्य समय के लिए आभार प्रदर्शित किए।

कार्यक्रम का संचालन प्रोफ़ेसर नैना पहाड़िया एवं प्रोफेसर लोमस कुमार साहू के द्वारा किया गया। शिक्षा संकाय के प्राध्यापक प्रोफेसर विजय सिंह राजपूत प्रोफेसर हेमलता साहू प्रोफेसर सारिका साहू प्रोफेसर चंद्रहास साहू प्रोफेसर तरुण साहू प्रोफेसर अखिलेश शर्मा प्रोफेसर नेहा जैन एवं तकनीकी सहायक ज्ञान प्रकाश साहू ने उपस्थित होकर इस कार्यक्रम के आयोजन में सक्रिय भूमिका निभाएं। मंच का संचालन B.Ed चतुर्थ सेमेस्टर के प्रशिक्षणार्थी सारिका वैष्णव के द्वारा किया गया।

Back to top button