छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन ‘बिहान’ के अंतर्गत 15 ग्राम पंचायतों के 80 महिला समूह का सांंकरा पंचायत परिसर में आजीविका शिविर का आयोजन

15 ग्राम पंचायतों के 80 महिला समूह का आजीविका शिविर का आयोजन

ब्यूरो रिपोर्ट मनोज मिश्रा
महासमुंद:
महासमुंद जिले के पिथौरा विकासखंड के सांंकरा पंचायत परिसर में छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन ‘बिहान’ के अंतर्गत 15 ग्राम पंचायतों के 80 महिला समूह का आजीविका शिविर का आयोजन किया गया।

साकरा जोक, छत्तीसगढ़ शासन के मंशा अनुरूप छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन बिहान के अंतर्गत साकरा स्थित पंचायत परिसर में सोमवार को महासमुंद जिला पंचायत सीईओ के निर्देशानुसार लगभग 80 महिला समूह का आजीविका शिविर का आयोजन किया गया शिविर का शुभारंभ महात्मा गांधी के मूर्ति पर मुख्य अतिथि सरपंच कोकिया बाई सिदार द्वारा माल्यार्पण कर किया गया।

तत्पश्चात उपस्थित बिहान टीम द्वारा स्वागत गीत एवं वंदना गीत गाकर उपस्थित अतिथियों का स्वागत ताली एवं फूल ताली द्वारा ताली बजाकर किया गया जो विशेष आकर्षण बना हुआ था शिविर में उपस्थित महिला समूह द्वारा अपने-अपने समूह द्वारा किए जा रहे गतिविधियों की जानकारी दी इसी क्रम में साकरा के अन्नपूर्णा महिला समूह द्वारा फिनाइल तैयार कर उसे स्थानीय पंचायत जनपद पंचायत एवं स्थानीय लोगों के यहां बिक्री करने की बात कही समूह के अध्यक्ष द्वारा दी गई..

जानकारी के अनुसार 1 लीटर फिनाइल को तैयार करने हेतु 20 से ₹25 तक का खर्च लगभग आता है जिसे उन्हें बाजार में ₹40 तक में बेचा जाता है इन्हीं समूह के द्वारा ही डिटर्जेंट पाउडर भी तैयार किया जाता है उसकी भी जानकारी दी साथ ही साथ साईं महिला समूह देवसराल द्वारा अगरबत्ती बनाकर विक्रय करने का भी जानकारी सदस्यों द्वारा दिया गया.

इसी क्रम में ग्राम माटी दरहा में महिला समूह के सदस्यों द्वारा गांव में नशा मुक्ति हेतु समिति गठित कर पूर्ण रूप से शराब सेवन प्रतिबंधित किया गया है साथ ही साथ गांव के किसी भी किराने दुकान में जर्दा युक्त पाउच का विक्रय नहीं करने दिया जाता ऐसा ही देवसर आल के महिला समूह द्वारा भी नशा मुक्ति हेतु पिछले 1 वर्ष से कार्यक्रम चलाया जा रहा है एवं नशा मुक्त देवसराल करने हेतु ठाना गया है।

कार्यक्रम में उपस्थित श्रमजीवी पत्रकार संघ के प्रदेश सचिव मनोज मिश्रा ने उपस्थित सभी महिलाओं को कम लागत में छोटे-छोटे स्वरोजगार करने हेतु प्रेरित किया जिसमें मशरूम उत्पादन दोना पत्तल व्यवसाय कागज के ठोंगा पेटीकोट ब्लाउज अगरबत्ती डिटर्जेंट पाउडर सहित अन्य दैनिक उपयोग होने वाले सामग्री के बारे में जानकारी दिया कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण बैंक के शाखा प्रबंधक द्वारा उपस्थित महिला समूह के सदस्यों को लोन लेने एवं उसमें क्या-क्या कागजी कार्यवाही करने पड़ते हैं..

इसके बारे में विस्तृत से जानकारी दिया गया साथ ही समूह के सदस्यों को भविष्य में भी आर्थिक रूप से बैंक से लोन दिलाने हेतु आश्वस्त किया गया कार्यक्रम का संचालन पिथौरा विकासखंड के एडीओ डीएल बरिहा ने किया साथ ही महिला समूह के सदस्यों को साकरा कलस्टर के पी आर पी साधु राम ध्रुव एवं पिरदा कलस्टर के ईश्वर सिन्हा द्वारा आजीविका मिशन के कार्यक्रम के बारे में जानकारी दिया गया शिविर में लगभग 400 महिलाओं ने अपनी भागीदारी निभाई शिविर में मुख्य रूप से नारा प्रचलित रहा जय बिहान जय जय विहान का।।

उक्त आजीविका शिविर कार्यक्रम में उपसरपंच प्रितपाल सिंह छाबड़ा पंच शतपथ सिंह सिदार पंचायत सचिव यशवंतडडसेना महिला पंच बसंती सोनी सहित कई पंचायतों से पंचायत प्रतिनिधि भी उपस्थित थे शिविर में उपस्थित महिला समूह के सदस्यों द्वारा उपस्थित शाखा प्रबंधक से भी अपनी जानकारी साझा की एवं उनसे कई प्रश्न भी समूह से संबंधित एवं लोन लेने की प्रक्रिया के बारे में भी विस्तृत से जानकारी मांगी जिसका कार्यक्रम के अंत में शाखा प्रबंधक ने विस्तृत से बताया। बाहर हाल शासन के उक्त आजीविका मिशन कार्यक्रम का गांव गांव में महिला स्वयं जागरूक होकर कुछ ना कुछ स्वरोजगार करने हेतु प्रेरित हो रहे हैं जिसका आने वाले समय में निश्चित रूप से परिणाम देखने को मिलेगा।

Tags
Back to top button