ग्रामीण पत्रकारों के लिए मीडिया कार्यशाला ‘वार्तालाप’ का भिलाई में आयोजन

भिलाई।

पत्र सूचना कार्यालय (पीआईबी), रायपुर द्वारा ग्रामीण अंचल में कार्य करने वाले पत्रकारों के लिए आज मंलवार को सुपेला, भिलाई स्थित होटल सेंट्रल पार्क में एक दिवसीय मीडिया कार्यशाला ‘वार्तालाप’ का आयोजन किया गया।

इस मीडिया कार्यशाला का शुभारम्‍भ छत्‍तीसगढ़ के वरिष्‍ठ पत्रकार श्री रमेश नैय्यर ने किया । इस अवसर पर भिलाई प्रेस क्‍लब के अध्‍यक्ष टी. सूर्याराव, वरिष्‍ठ पत्रकार शिवनाथ शुक्‍ला और जी. टी.वी., रायपुर के वरिष्‍ठ पत्रकार सुदीप त्रिपाठी सहित अनेक प्रिंट एवं इलेक्‍टॉनिक मीडिया के पत्रकारगण उपस्थित थे ।

मीडिया कार्यशाला को संबोधित करते हुए श्री रमेश नैय्यर ने कहा कि आज पत्रकारिता के सरोकार बदल गए हैं, नकारात्‍मक खबरों की भरमार हो गयी है । हमें नकारात्‍मकता को छोड़कर सकारात्‍मक की ओर बढ़ना है । उन्‍होंने कहा कि हमारे नौजवानों में असीम क्षमता है । आज हमारे पत्रकार बंधु भी सैनिकों के साथ-साथ अपनी शहादत दे रहे हैं ।

रमेश नैय्यर ने कहा कि हमारे बीच सब कुछ है। लिखने से पहले सोचें कि इसका समाज में क्‍या प्रभाव पड़ेगा । अच्‍छाई को भी स्‍थान दें ताकि एक अच्‍छा समाज तैयार हो, जहां हमें गर्व होगा कि हम एक अच्‍छे समाज का हिस्‍सा हैं । उन्‍होंने कहा कि एक अच्‍छा पत्रकार तभी बन सकता है, जब उसमें जुनून हो और जीवन में कुछ सार्थक करने की तमन्‍ना हो । जो हम देते हैं, वही लौटकर आता है, इसलिए जीवन में हमें अच्‍छे विचारों को स्‍थान देना चाहिए ।

वरिष्‍ठ पत्रकार शिवनाथ शुक्‍ला ने कार्यशाला को संबोधित करते हुए कहा कि आज ग्‍लोबलाइजेशन और डिजिटालाइजेशन के इस दौर में हम घर-घर तक पहुंच गए हैं, हमारी पहुंच गांवों तक बढ़ गयी है । पत्रकारों को प्रगतिशीलता के साथ ही साथ पारम्‍परिक मूल्‍यों की ओर भी ध्‍यान देना चाहिए ।

शुक्‍ला ने कहा कि यदि ग्रामीण पत्रकारों की समस्‍याओं और उनके आर्थिक स्‍वावलंबन की ओर ध्‍यान नहीं दिया गया तब तक उनसे अच्‍छी खबरों की आशा नहीं कर सकते । पत्रकार को एक समाज सुधारक की भूमिका भी निभानी चाहिए । हमें आलोचना नहीं ढूंढना है, हमें खबरों में सकारात्‍मकता लाना है ।

भिलाई प्रेस क्‍लब के अध्‍यक्ष श्री टी. सूर्याराव ने कहा कि व्‍यावसायीकरण की वजह से आज अखबारों का ध्‍यान केवल शहरों तक ही सीमित हो गया है । कार्यशाला को जी-टीवी रायपुर के वरिष्‍ठ पत्रकार श्री सुदीप त्रिपाठी ने भी संबोधित किया ।

इसके पूर्व मीडिया कार्यशाला के आयोजन के उद्देश्‍यों पर प्रकाश डालते हुए पत्र सूचना कार्यालय (पीआईबी), रायपुर के अपर महानिदेशक,सुदर्शन एस. पनतोड़े ने कहा कि भारत सरकार की जन कल्‍याणकारी योजनाओं एवं नीतियों के संबंध में पत्रकारों के साथ संवाद स्‍थापित करना है, ताकि उन योजनाओं एवं कार्यक्रमों को और बेहतर तरीके से आम जनता तक पहुंचाया जा सके । योजनाओं के फायदों के साथ ही साथ खामियों को भी जानना जरूरी है । पत्रकार ही जमीनी स्‍तर पर रिपोर्टिंग कर बेहतर तरीके से बता सकते हैं कि कहां-कहां लोगों को कठिनाई हो रही है।

उन्‍होंने बताया कि पत्र सूचना कार्यालय (पीआईबी) न केवल सरकार की योजनाओं का प्रचार-प्रसार प्रिंट और इले‍क्‍ट्रॉनिक मीडिया के माध्‍यम से करता है, बल्कि मीडिया में, सरकारी की योजनाओं और कार्यक्रमों के बारे में होने वाली प्रतिक्रियाओं से भी सरकार को अवगत कराता है । पत्र सूचना कार्यालय (पीआईबी) सरकार और मीडिया के मध्‍य एक सेतु की तरह कार्य करता है ।

कार्यक्रम के आरम्‍भ में पत्र सूचना कार्यालय (पीआईबी), रायपुर के सहायक निदेशक, सुनील कुमार तिवारी ने अतिथि‍यों और प्रतिभागियों का स्‍वागत किया। कार्यशाला का संचालन जीतेन्‍द्र मानिकपुरी ने किया और कार्यक्रम के अंत में आभार प्रदर्शन, प्रदीप विश्‍वकर्मा, फील्‍ड आऊटरीच ब्‍यूरो, दुर्ग ने किया।

1
Back to top button