वृन्दावन हॉल में नवरंग काव्य मंच द्वारा ‘नमन तुझे माँ’ का आयोजन

रायपुर: नवरंग काव्य मंच द्वारा सोमवार को स्थानीय वृन्दावन हाॅल, सिविल लाईन्स में बसंत पंचमी के अवसर पर स्व. जियाबाई लाहोटी की स्मृति में काव्य संध्या ’’नमन तुझे माँ का आयोजन किया गया। इस अवसर पर दीपक मित्तल, आई.एन. सिंह, सी.पी. शर्मा पियुष, लक्ष्मीनारायण लाहोटी, अशोक टिबड़ेवाल, शोभा पंडित, लायन् जे.एस. ठाकुर द्वारा माँ सरस्वती, स्व. जियाबाई लाहोटी की तस्वीर पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का विधिवत शुभारंभ किया गया।
इसके पश्चात् नवरंग काव्य मंच के संयोजक कवि राजेश जैन राही के संचालन में शहर के नवोदित एवं स्थापित रचनाकारों ने ममतामयी माँ एवं माँ सरस्वती को समर्पित अपनी रचनाओं का पाठ किया।

राजेश जैन राही ने इन पंक्तियों से अपने श्रद्धासुमन अर्पित किये –
माँ का आशीर्वाद ही, लेखन का आधार।
करता हूँ विनती यही, रहे कलम में धार।।

ए.बी. दुबे इन पंक्तियों से अपने भाव व्यक्त किये –
माँ के आशीषों से घर में, दौलत अट जाती है।
माँ के ढंग से समझाने पर, खाई पट जाती है।।

भूपेश कर्राहे –
माँ तू कैसी है, भगवान जैसी है,
या भगवान तुझ जैसे हैं, ये नहीं पता।
मुझे नहीं बताया गया, लेकिन लगता है,
तुम दोनों समानार्थी हो।

कवि मनोज शुक्ला –
कोयल कंठ सँवारणी, लेखनी तारणी माता,
बेटे को बुलाया है तो, वरदान दीजिए।
गाँऊ गीत भारत के, शहीदों के स्वागत के,
कविता में मेरी माता ब्रम्हबाण दीजिए।

कार्यक्रम में दो रचनाकारों – ओमप्रकाश अवसर (दुर्ग), गौरीशंकर कश्यप सिरफिरा (देवभोग) को नवरंग सरस्वती पुत्र सम्मान से सम्मानित किया गया।
कार्यक्रम में समाज सेविका किरण साहू, प्रख्यात कराटे चैम्पियन हर्षा साहू एवं बाॅल बेडमिंटन चैम्पियन डोमेश्वरी साहू का शाल श्रीफल द्वारा सम्मान किया गया।

कार्यक्रम में प्रदेश भर से पधारे रचनाकारों डाॅ. सीमा श्रीवास्तव, डाॅ. रामकुमार बेहार, आशीष राज सिंघानिया, उर्मिला देवी उर्मि, अनिल श्रीवास्तव जाहिद, शकुन्तला तरार, किरण बिन्नानी, चंद्रकला त्रिपाठी, शिवानी मैत्रा, सुनीता शर्मा, क्रांति दीक्षित, छत्तर सिंह बच्छावत, अनिल गौतम, राज तिवारी, सफर अली सफदर ने माँ सरस्वती को अपने भाव सुमन अर्पित किये।

advt
Back to top button