छत्तीसगढ़

हमन अमर लेबो आगास‘‘ (हम छू लेंगें आकाश) साक्षर महिला-सशक्त महिला विषयक संगोष्ठी-सम्मेलन का आयोजन

जिला पंचायत महासमुन्द के सभागार में संपन्न

– मनोज मिश्रा

महासमुंद: अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर साक्षर भारत कार्यक्रम के तहत जिले में महिला साक्षरता को बढ़ावा देने, शिक्षा के क्षेत्र में जेण्डर गेप को कम करने 8 मार्च 2019 को अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर ‘‘हमन अमर लेबो आगास‘‘ (हम छू लेंगें आकाश) साक्षर महिला-सशक्त महिला विषयक संगोष्ठी-सम्मेलन का आयोजन जिला पंचायत महासमुंद के सभागार में किया गया। इस संगोष्ठी सम्मेलन में महिला साक्षरता के महत्व को प्रतिपादित करने, समाज में महिलाओं की पूर्व स्थिति वर्तमान स्थिति एवं शिक्षा साक्षरता के माध्यम से उनके सशक्तिकरण की ओर बढ़ते कदम विषय पर चर्चा किया गया।

कार्यक्रम में अतिथि गोपा मोती साहू, उपाध्यक्ष, जिला पंचायत महासमुंद, अनीता रावटे, सदस्य, अखिल भारतीय कॉग्रेस कमेटी, डॉ. वाणी तिवारी, जनपद सदस्य महासमुंद, सती साहू, प्रदेश उपाध्यक्ष, महिला कॉग्रेस कमेटी, महासमुंद के आतिथ्य मंे मॉ सरस्वती की वंदना से शुभारंभ किया गया। साक्षर महिला सशक्त महिला विषय पर कार्यक्रम के अतिथि जिला पंचायत महासमुंद के उपाध्यक्ष गोपा मोती साहू ने प्रकाश डालते हुए कहा कि हम सबके अंदर जो शक्ति है उसे बनाकर रखना है तथा जो बुराई है उसे त्यागकर अच्छाई को अपनाकर समाज उत्थान पर कार्य करना है। पहले और आज में महिलाआंे की स्थिति पर विशाल परिवर्तन आया है।

उन्होंने कहा कि आज महिलाएं पुरूषों के से कंधा से कंधा मिलाकर चल रहीं है, पायलेट फोर्स सेना में जा रही है। जब हम अपना घर मजबूत करेंगें तो तभी समाज और समाज से देश मजबूत होगा। उन्होने कहा कि अपने दम पर तकदीर बनाने की क्षमता हर महिला में समाहित है। इस अवसर पर अनीता जी रावटे, सदस्य अखिल भारतीय कॉग्रेस कमेटी ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि जिस दिन महिला अपनी शक्ति को पहचानेगी उसी दिन से ही सशक्त हो जाएगी। उन्होंने कहा कि हमें समाज को आगे बढ़ाने के लिए महिलाओं को आगे आना होगा तभी हमारा समाज उन्न्नति की ओर अग्रसर होगा। उन्होंने कहा कि महिलाओं का काम आसान नहीं होता है। इसी कड़ी में डॉ. वाणी तिवारी, जनपद सदस्य महासमुंद, सती साहू, प्रदेश उपाध्यक्ष, महिला कॉग्रेस कमेटी, महासमुंद ने अपने विचार रखे।

साक्षर महिला-सशक्त महिला विषय पर व्याख्यान शोभा शर्मा पार्षद, नगर पालिका परिषद महासमुंद, डॉ. मंजू शर्मा प्राचार्य, श्याम बालाजी महाविद्यालय महासमुंद, तारिणी चंद्राकर, उत्तरा विदानी पत्रकार, सुजाता विश्वनाथन, नमिता दलेला, सुपरवाईजर, महिला एवं बाल विकास विभाग, महासमुंद के द्वारा साक्षर महिला सशक्त महिला विषय पर प्रकाश डालते हुए कहा कि, देश के प्रारंभ से ही महिलाओं ने अपना नेतृत्व का परिचय दिया है, जिसके फलस्वरूप इंदिरा गांधी महिला होते हुए भी भारत के प्रधानमंत्री बनकर देश का कुशल नेतृत्व का परिचय दिया, इसके अलावा वर्तमान में बालिका शिक्षा पर शासन-प्रशासन विशेष कार्य योजना बनाकर कार्य करने की महती आवश्यकता हैं। जिससे समाज व देश में महिला साक्षर और सशक्त बनने मंे सफल हो सकें।

महिला दिवस पर प्रकाश डालते हुए वक्ताओं द्वारा बताया गया कि, अधिकारिक तौर पर युनाईटेड नेशन्स द्वारा 8 मार्च 1975 से पहला अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया गया। तब से आज पर्यन्त तक महिलाओं का जागरूक करने एवं उनके विषय पर ध्यान आकर्षित करने निरंतर मनाते आ रहे है। आगे कहा कि, अरस्तु ने कहा है ‘‘ नारी के उन्नति पर ही राष्ट्र की उन्नति व विकास संभव है’’ इस बात को ध्यान मंे रखते हुए नारी उन्नति की और समान भाव से कार्य करने की वर्तमान जरूरत है। डॉ. वाणी तिवारी, जनपद सदस्य महासमुंद, सती साहू, प्रदेश उपाध्यक्ष, महिला कॉग्रेस कमेटी, महासमुंद ने विषय पर विचार रखते हुए कहा कि, हम सब महिलाओं के अंदर जो शक्ति है, उसे पहचान कर बुराई का त्यागकर और अच्छाई को अपनाकर समाज उत्थान पर कार्य करने की जरूरत है।

वर्तमान मंे सशक्त महिला बनने का शुरूआत अपने घर से करेेंगे तो स्वतः ही समाज व देश मंे महिला सशक्त हो जायेंगे। महिलाओं को समान अधिकार व सम्मान मिलें तो महिलाएॅ अपने दम पर तकदीर बनाने की क्षमता रखती है। साथ ही यह कहा गया कि, जिस दिन महिला अपनी जिम्मेदारी और कर्तव्यों का निष्पक्ष रूप से निर्वहन करना शुरू कर देंगी, उस दिन से महिला सशक्त हो जायेंगी। वर्तमान में महिलाओं का काम करना आसान नहीं है, लेकिन वो समाज के कुछ चींजो को नजर अंदाज कर सामांजस्य बनाकर बडी कुशलता के साथ कार्य संपादित कर रही है। तभी परिवार, समाज और देश मंे महिलाएॅ अपना स्थान बना रही है।

कार्यक्रम में नवसाक्षर महिला कमला कश्यप, पंच ग्राम पंचायत, बिरकोनी, राजबाई धु्रव पंच ग्राम पंचायत, बरतुंगा, विकासखंड पिथौरा, उत्तरा छुरा, एवं पुष्पा यादव सहित समाज सेवा के क्षेत्र में अग्रणी शोभा शर्मा, निरंजना चन्द्राकर, उत्तरा विदानी का सम्मान मंचस्थ अतिथियों के कर कमलों से साल, श्रीफल और पुष्प गुच्छ से किया गया। आभार प्रदर्शन जिला लोक शिक्षा समिति के प्रभारी जिला परियोजना अधिकारी प्रमोद कन्नौजे एवं संचालन शिक्षक ईश्वर चन्द्राकर ने किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में मुख्य रूप से धनेश यादव, जिला कार्यक्रम समन्वयक, साक्षर भारत, परमानंद साहू, सुधारात्रे ऑगनवाड़ी कार्यकर्ता, महासमुंद सहित महिला बाल विकास विभाग के अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित थे।

Tags
Back to top button