विश्व मलेरिया दिवस का आयोजन

अम्बिकापुर : राष्ट्रीय वेक्टर जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम अन्तर्गत आज 25 अप्रैल 2019 को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में विश्व मलेरिया दिवस का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पी.एस.सिसोदिया ने जागरूकता रैली को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डॉ सिसोदिया ने कहा कि मच्छरों के प्रकोप को रोकने के लिए उनके उत्पत्ति स्थानों को नष्ट करना बहुत जरूरी है। बदलते मौसम में यदि बुखार आ रहा है, सिर में दर्द है और कमजोरी लग रही है, तो लापरवाही न करें तुरंत नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र में खून की जॉंच कराकर चिकित्सक से परामर्श लें।

उन्होंने कहा कि हो सकता है ये छोटी-छोटी परेशानियाँ आगे चलकर मलेरिया का रूप ले लें। मलेरिया एक ऐसी बीमारी है जिससे सावधानियाँ रखकर बचा जा सकता है। डॉ सिसोदिया ने बताया कि मच्छरों को कम करने के लिए शहर के समस्त वार्डो में फॉगिंग मशीन का उपयोग किया जा रहा है। ये मशीन नगर निगम के द्वारा संचालित की जा रही है।

उन्होंने बताया कि ठंड के बाद जैसे ही गर्मी बढ़ती है, वैसे ही अचानक से मच्छर भी बढ़ जाते है जिससे मलेरिया के केस बढ़ने की आशंका होती है। मच्छरों के प्रकोप को रोकथाम के लिए जिले के समस्त विकासखण्डों में जमीनी स्तर पर डीडीटी का छिड़काव प्रथम चक्र 17 अप्रैल 2019 से 30 जून 2019 तक तथा द्वितीय चक्र 01 जुलाई 2019 से 13 सितम्बर 2019 तक किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि मलेरिया के रोकथाम एवं बचाव हेतु ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र में आमजनों में जनजागरूकता से संबंधित नारे, श्लोगन भी किया जा रहा है तथा मैदानी स्तर पर स्वास्थ्य कर्मी चयनित एरिया में जाकर मलेरिया के परीक्षण के लिए ब्लड स्लाइड एवं आरडी किट से जॉच कर रहे है ।

पाजिटीव आने पर पूर्ण उपचार किया जा रहा है। इस अवसर पर जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. अनिल प्रसाद, जिला कार्यक्रम प्रबंधक डॉ. अनिता पैकरा, प्रियंका कुरील, आरएमएनसीएच सलाहकार डॉ0 आमीन फिरदौसी, डॉ. वर्षा, सुरजीत कुशवाहा उपस्थित थे।

Back to top button