दो दिवसीय विकासखंड स्तरीय अधिकारियों का उन्मुखीकरण कार्यशाला संपन्न

मनोज मिश्रा

महासमुंद।

यूनिसेफ एवं राज्य शैक्षिक अनुसंधान परिषद रायपुर के निर्देश पर राजीव गांधी शिक्षा मिशन महासमुंद द्वारा दो दिवसीय विकासखंड स्तरीय अधिकारियों का उन्मुखीकरण कार्यशाला का आयोजन जिला प्रशिक्षण संस्थान (डाइट) में किया गया।

इस अवसर पर प्रभारी जिला शिक्षा अधिकारी सतीश कुमार नायर, डाइट के प्राचार्य पी.एस. श्याम, सहायक प्राध्यापक अरूण प्रधान, बाल संरक्षण के संचालक सुरेश शुक्ला, प्रशिक्षण प्रभारी डी एन जांगड़े एवं विद्या साहू के आतिथ्य में शुभारंभ हुआ।

इस अवसर पर प्रभारी जिला शिक्षा अधिकारी नायर ने कहा कि आपदा प्रबंधन के लिए विद्यालय को प्रशिक्षित करने, जनजागरण से आपदा के जोखिम को कम किया जा सकता है। उन्होंने केरल बाढ़ आपदा की आप बीती घटना के दृश्यों को बताए हुए भविष्य के लिए सतर्क रहने तथा विद्यालय में टोली गठित कर विद्यार्थियों को जागरूकत करने के निर्देश दिए।

वहीं चाईल्ड हेल्प केयर के संचालक सुरेश शुक्ला द्वारा जिले में बाल सुरक्षा के लिए किए जा रहे गतिविधियों, 1098 में डायल करने, बच्चों की सुरक्षा एवं कानूनी सहायता के लिए जिले में कार्यरत टीम की जानकारी देते हुए साइबर क्राइम व स्टडी स्टोरी के अनुभव के बारे में विस्तार से बताया। इसी प्रकार फायर ब्रिगेड द्वारा आग लगने की स्थिति में किस प्रकार मदद पहुचाई जा सकती है मार्क ड्रिल कर बताया गया।

उन्मुखीकरण कार्यशाला में प्रशिक्षक विजय शर्मा द्वारा आपदा प्रबन्ध, श्रीमती लक्ष्मी डड़सेना द्वारा स्कूल सुरक्ष तथा प्रेमचन्द डड़सेना द्वारा संरचनात्मक एवं गैर संरचनात्मक स्थिति में आपदा के जोखिम को कम करने के बारे में बताया गया।

उन्मुखीकरण कार्यशाला के तहत 21 जनवरी 2019 को पहली से बारहवीं कक्षा तक संचालित शालाओं में मॉक ड्रील का कार्यक्रम आयोजित करने तथा सभी शालाओं में आपदा प्रबंधन में जानकारी के लिए सभी शालाओं कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा

1
Back to top button