जम्मू कश्मीर से हमारा खून का रिश्ता’ : अमित शाह

-गुलाम नबी आजाद और सैफुद्दीन सोज पर कार्रवाई करें राहुल

नई दिल्ली/जम्मू कश्मीर :

भाजपा-पीडीपी गठबंधन टूटने और राज्यपाल शासन लागू होने के बाद भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह शनिवार को कश्मीर पहुंचे। अमित शाह जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्याम प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि पर आयोजित रैली में शामिल हुए।

अमित शाह ने कहा कि श्यामा प्रसाद के कारण ही कश्मीर भारत से जुड़ा है। श्यामा प्रसाद की जेल में हत्या हुई। जम्मू कश्मीर से हमारा खून का रिश्ता है।

इस दौरान अमित शाह ने गुलाम नबी आजाद पर जमकर तंज कसा। गुलाम नबी आजाद के बयान को दोहराना नहीं चाहता। राहुल बताए कि कांग्रेस लश्कर-ए-तैयाब के बीच फ्रीक्वेंसी मैच कैसी। राहुल गांधी गुलाम नबी आजाद और सैफुद्दीन सोज पर कार्रवाई करें। कांग्रेस को इसके लिए देश से माफी मांगनी चाहिए।

-मंच पर कई नेता रहे मौजूद

रैली में उनके साथ केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र रैना और भाजपा के वरिष्ठ नेता रामलाल भी मौजूद रहे। बता दें कि गठबंधन टूटने से पहले अमित शाह ने भाजपा के सभी मंत्रियों को नई दिल्ली बुलाया था, जिसके बाद पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने राज्य में सत्तारूढ़ गठबंधन से अलग होने का ऐलान किया था।

-युवा मोर्चा ने किया भव्य स्वागत

इससे पहले अमित शाह के कश्मीर पहुंचने पर भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं की मोटरसाइकिल रैली हवाईअड्डे से शाह के साथ कनाल रोड स्थित गेस्ट हाउस तक पहुंची। वह यहां पार्टी के कई नेताओं और प्रतिनिधिमंडलों से मुलाकात की। 2019 के चुनावों की तैयारी के लिहाज से भी अमित शाह का ये दौरा काफी अहम माना जा रहा है।

Back to top button