सांस्कृतिक विरासत को संजोकर रखना हमारी जवाबदारी : बृजमोहन

रायपुर : सांस्कृतिक विरासत को संजोकर रखना हमारी जवाबदारी। ये बातेें सोमवार को कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कही। वे निरंजन धर्मशाला में चल रहेराष्ट्रीय सिंधी भाषा विकास परिषद के चिंतन शिविर में बोल रहे थे।
बृजमोहन ने कहा कि हर किसी को अपनी भाषा संस्कृति और श्रेष्ठ परंपराओं के प्रति गौरव का बोध होना चाहिए,क्योंकि इसी से हमारी पहचान हैं।

उन्होंनें कहा कि हम सौभाग्यशाली हैं कि जिस भारत भूमि में हमारा जन्म हुआ वहां भांति-भांति की संस्कृति और भाषा देखने को मिलती है। यह अनेकता में एकता ही भारत की विशेषता है। ऐसे में अपनी सांस्कृतिक विरासत को संजोकर रखना हम सबकी जिम्मेदारी है।

इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी मंचन हुआ। चिंतन शिविर में संत युधिष्ठिर लाल ,विश्व हिंदू परिषद के रमेश भाई मोदी, हिंदी साहित्य अकादमी के अजीत जीवन,मुरलीधर माखीजा, रमेश वल्र्याणी, ललित जयसिंघ आदि उपस्थित थे।

1
Back to top button