अन्यराज्य

कोर्ट के बाहर अन्धाधुन फायरिंग, लड़की और एसआइ की मौत

घटना के बाद पुलिस ने पूरे क्षेत्र को घेर लिया और मामले की जांच कर रही है।

रोहतक। हरियाणा के रोहतक में एक 18 साल की लड़की की कथित तौर पर इज्जत के नाम पर हत्या का मामला सामने आया है. यहां जिला कोर्ट परिसर में दिनदहाड़े फायरिंग से हड़कंप मच गया।

बाइक पर आए युवकों द्वारा की गई इस फायरिंग में पिछले दिनों घर से भाग कर प्रेमी के साथ शादी रचाने वाली लड़की और एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई। इसे ऑनर किलिंग का मामला बताया जा रहा है।

लड़की को करनाल नारी निकेतन से यहां कोर्ट में पेशी के लिए लाया गया था। उसका प्रेमी और प्रेमी का पिता सुनारिया जेल में बंद हैं। घटना में मारा गया एसआइ लड़की को अदालत में पेश करने लाया था।

जानकारी के अनुसार, लड़की ममता को करनाल के नारी निकेतन से अदालत में पेशी के लिए एसआइ नरेंद्र और एक हेडकांस्‍टेबल लेकर आए थे। कोर्ट में लड़की का बयान दर्ज किए जाने के बाद दोनों पुलिसकर्मी उसे वापस करनाल ले जाने के लिए कोर्ट परिसर से निकले थे।

लोगों के अनुसार, लड़की और पुलिसकर्मी कोर्ट परिसर से बाहर आए ही थे कि एक बाइक पर सवार दो-तीन युवक आए और उन्‍होंने दनादन फायरिंग शुरू कर दी। युवकों ने लड़की ममता को निशाना बनाकर फायरिंग की।

गोलियां ममता के साथ-साथ एसआइ नरेंद्र को भी लगी। इससे दोनों बुरी तरह घायल हो गए। उनको तुरंत पीजीआइ ले जाया गया, लेकिन उनकी मौत हो गई। दिनदहाड़े हुई इस घटना से हडकंप मच गया और पूरे क्षेत्र में अफरातफरी मच गई। हमलावर युवक घटना के बाद फरार हो गए।

लड़की के प्रेमी सोमेन की मां ने आरोप लगाया है कि फायरिंग लड़की के पिता ने की है। वह बेटी के प्रेम विवाह करने से नाराज था। घटना के बाद पुलिस ने पूरे क्षेत्र को घेर लिया और मामले की जांच कर रही है। अभी तक हमलावरों का कोई सुराग नहीं लगा है।

जानकारी के अनुसार, ममता मूलरूप से गद्दी खेड़ी की रहने वाली थी और सिंघपुरा निवासी युवक सोमेन से पिछले दिनों शादी की थी। बताया जाता है कि दोनों ने घर से भाग कर चंडीगढ़ में शादी कर ली थी। आरोप है कि लड़की के नाबालिग होने के बावजूद प्रेमी ने उसका फर्जी प्रमाण पत्र बनवाकर चंडीगढ़ में शादी कर ली थी। इसमें युवक के पिता की भी मिलीभगत का आरोप है।

बाद में मामले का खुलासा होने के बाद प्रेमी युवक को लड़की के साथ गिरफ्तार कर लिया गया। अदालत ने युवक सोमेन और उसके पिता को सुनारिया जेल भेज दिया। लड़की को नाबालिग होने के कारण करनाल नारी निकेतन में भेज दिया गया था।

Back to top button