छग में आने न पाए बाहर का धान, सरकार सील करे बॉर्डर-रमन सिंह

रायपुर: पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने विधानसभा में राज्य सरकार को घोषणा पत्र में किए वायदों को याद कराया. डॉ रमन सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ का किसान सदन की एक-एक बात जानना चाहता है. मुख्यमंत्री जब विपक्ष में थे तो एक नवंबर से धान खरीदी को लेकर पत्र लिखा करते थे. आज स्वयं 1 दिसंबर से धान खरीदी की बात कर रहे हैं. किसानों के साथ जिस प्रकार की कार्रवाई हो रही है उससे किसान व्यथित हैं.

डॉ रमन सिंह ने आगे कहा कि बॉर्डर सील कर दिया जाए एक भी बाहर का धान प्रदेश में नहीं आना चाहिए यह व्यवस्था सरकार करे. जिस घोषणा पत्र से बहुमत मिला, कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने 2 साल के बोनस और ढाई हजार रुपे में धान खरीदी और किसानों की कर्ज माफी का वादा किया था. राज्य सरकार ने शार्ट टर्म कर्ज माफी की बात कहकर किसानों से वादा खिलाफी किया. छत्तीसगढ़ में जब बीजेपी की सरकार थी तो वेटिंग लिस्ट हमने खत्म कर दिया था.

एक माह में किसानों को पंप कनेक्शन मिला करते थे. 1 साल सरकार बदलने के बाद गन्ना उत्पादन में 50% की कटौती हो गई इसका कारण क्या है. आज गन्ना खरीदी के लिए व्यवस्था नहीं है. छत्तीसगढ़ का किसान अपने आप को ठगा महसूस कर रहा है. सोयाबीन की फसल लगातार दो साल से खराब हो रही है, राजनांदगांव कवर्धा मुंगेली बेमेतरा क्षेत्र में पूरी फसल बर्बाद हुई है, लेकिन उन्हें मुआवजा नहीं मिला. मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ के चावल से बायोफ्यूल बनाने की बात कह रहे हैं. उसकी लागत 120 रुपए आएगा, ऐसे में किसानों की स्थिति क्या होगी.

Tags
Back to top button