राष्ट्रीय

हाई कोर्ट में 120 से ज्यादा जजों की नियुक्तियां सरकार और कोलेजियम के पास पेंडिंग

इन आंकड़ों से पता चलता है कि हाई कोर्ट के कोलेजियम ने अभी तक 280 खाली पदों को भरने के लिए किसी नाम की सिफारिश नहीं की है

देश की 13 हाई कोर्ट की 120 से ज्यादा जजों की नियुक्तियों के लिए नामों की सिफारिशें सरकार और कोर्ट के कोलेजिएम के पास लंबित है. बता दें कि इस समय हाई कोर्ट में 1,079 पदों में से 403 पद खाली हैं.

[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”अगर आप पढ़ना नहीं चाहते तो क्लिक करे और सुने”]

इसमें गौर करने वाली बात यह भी है कि हाई कोर्ट में सभी खाली पड़े पदों को भरने के लिए 280 नामों की सिफारिश होना अभी भी बाकी है. सरकार में बड़े पदों पर बैठे अधिकारिक सूत्रों का कहना है कि एक फरवरी तक की बात करें तो 13 उच्च न्यायालयों में नियुक्तियों के लिए 123 नामों की सिफारिश सरकार और सुप्रीम कोर्ट के कोलेजियम के पास लंबित है. इनमें से 43 नाम सुप्रीम कोर्ट के कोलेजियम के पास लंबित हैं तो 80 सरकार के पास पेंडिंग हैं.

सूत्रों ने बताया कि इन आंकड़ों से पता चलता है कि हाई कोर्ट के कोलेजियम ने अभी तक 280 खाली पदों को भरने के लिए किसी नाम की सिफारिश नहीं की है.

मंत्रालय की ओर से उपलब्ध ताजा आंकड़ों के अनुसार, एक फरवरी तक सबसे ज्यादा 56 खाली पद इलाहाबाद हाई कोर्ट में हैं. इसके बाद कलकत्ता हाई कोर्ट में 39, कर्नाटक में 38, पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट में 35 और आंध्र प्रदेश/ तेलंगाना उच्च न्यायालय में 30 पद खाली हैं.

गौरतलब है कि नियुक्तियों के लिए उच्च न्यायालय के कोलेजियम नामों की सूची कानून मंत्रालय को भेजते हैं. वहां से खुफिया विभाग से सूचनाएं प्राप्त होने के बाद इन नामों को उच्चतम न्यायालय के कोलेजियम के पास भेज दिया जाता है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button